पार्टी को एकजुट करने के लिए अखिलेश यादव का बड़ा दाँव, विरोधी भी चौंके..

October 19, 2020 by No Comments

लखनऊ: हर पार्टी के लिए एक मुश्किल ये होती है कि जब भी चुनाव या उपचुनाव हों तो पार्टी में कोई झगड़ा या विवाद हो तो कैसे सुलझाया जाए. इसको लेकर हर पार्टी तरकीब अपनाती है लेकिन जैसे जैसे चुनाव नज़दीक आते हैं, मामला बिगड़ने लगता है. इसी बात को समझते हुए समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने एक बड़ा क़दम उठाया है. उन्होंने सपा को एकजुट करने के लिए एक ऐसा प्लान बनाया है जिससे कुछ विरोधी भी चर्चा करने लग गए हैं.

असल में सपा अध्यक्ष ने इशारा किया है कि वो उन नेताओं का टिकट नहीं काटेगी जो अभी विधायक हैं. उन्होंने सोशल मीडिया पर एक सन्देश लिखा,”समाजवादी पार्टी 2022 के चुनावों के लिए, वर्तमान विधायकों व उप चुनाव के उम्मीदवारों की सीटों को छोड़कर, अन्य सभी विधानसभा की सीटों के चुनाव के लिए ही आवेदन आमंत्रित कर रही है. आइये उप्र के जनहितकारी चतुर्दिक विकास के लिए एकजुट हो जाएं! #सपा_का_काम_जनता_के_नाम”

उनके इस बयान के कई मायने हैं. जानकार मानते हैं कि उन्होंने डेढ़ साल पहले ही चुनाव की तैयारी शुरू कर दी है जो उन्हें चुनाव में बहुत फ़ायदा पहुंचाएगी. उनकी विरोधी पार्टियाँ भी सोच रही हैं कि आख़िर इतनी जल्दी तैयारी शुरू करने का क्या मतलब है. असल में इस तरह की बहुत सी संभावनाएँ लगाई जा रही थीं कि पार्टी बहुत से विधायकों के टिकट काट सकती है. विधायकों के लिए ये एक confusion की बात हो जाती है और ऐसे में वो पार्टी के हितों का ख़याल रखे बग़ैर अपनी राजनीति व्यक्तिगत तौर पर चलाते हैं. अखिलेश शायद समझ चुके हैं कि लोगों को कैसे एकजुट करना है.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *