पहली बार राज्यसभा चुनाव में होगा कड़ा मु’क़ाबला, कांग्रेस और भाजपा के बीच चल रही गणित..

भारत राजनीति

मध्य प्रदेश में चल रहे सियासी घमा’सान के बीच राज्यसभा की 3 सीटों पर अब सिर्फ 4 उम्मीदवा’र मैदान में बाक़ी हैं। भारतीय जनता पार्टी से ज्योतिरादित्य सिंधिया, सुमेर सिंह सोलंकी और कांग्रेस से दिग्विजय सिंह और फूल सिंह बरैया राज्यसभा की सीटों के लिए लड़ेंगे। इससे पहले एक और उम्मीदवा’र रहे लेकिन हाल ही में उन्होंने अपना नामांकन वापस ले लिया। बीजेपी के पूर्व मंत्री रंजन बघेल ने अपना नामांकन किया था लेकिन अब उन्होंने अपना नामांकन वापिस ले लिया है.

बता दें कि मध्य प्रदेश से राज्यसभा की 3 सीटें हैं, जिसमें से अभी तक 2 सीटें बीजेपी के पास थी वहीं एक सीट पर कांग्रेस का क’ब्ज़ा था। कांग्रेस पार्टी के नेता दिग्विजय सिंह राज्यसभा के सदस्य हैं। कांग्रेस के सत्ता में आने के बाद बदले समीकर’ण में ये उम्मीद लगाई जा रही थी कि अब कांग्रेस के पास दो सीट आ जाएंगी। लेकिन मध्य प्रदेश में अब चल रहे घमा’सान के बाद अब फिर से बीजेपी को अपनी दोनों सीटें बरकरार रहने की उम्मीद है।

Rajyasabha Election 2020

इसी कार’ण से बीजेपी से 2 सीटों पर अपने उम्मीदवा’र उतारे हैं। वहीं कांग्रेस की भी उम्मीदें बरकरार हैं, कांग्रेस ने अपने सिटिंग एमपी दिग्विजय सिंह को दोबारा टिकट दिया और दूसरी सीट के लिए फूल सिंह बरैया को उतारा है। विधानसभा चुनाव में बरैया ने कांग्रेस पार्टी को समर्थन दिया था। विधानसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी के कूल 114 विधायक हैं वहीं बीजेपी के 107 विधायक हैं। कांग्रेस पार्टी के ज़्यादा विधायक होने के बावजूद भी बदले हालातों में कांग्रेस की रास्ता मुश्किल जरूर हो गया है। बता दें कि 26 मार्च को राज्यसभा चुनाव होंगे और इसी दिन ही वोटों की गिनती भी की जाएगी। चुनव की पूरी प्रक्रिया 30 मार्च तक समाप्त कर ली जाएगी। वहीं 9 अप्रैल को मध्य प्रदेश की इन सीटों पर सांसदों का कार्यकाल पूरा होने वाला है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *