भैं’स ने खा लिया 2 लाख रूपये का मंगलसूत्र, फिर उस’के साथ हुआ ऐसा कि आप सो’च भी नहीं सकते

हमारा देश एक ऐसा देश है जहां इंसानों का तो सम्मान होता ही है, यहाँ पशुओं का भी ख़ूब सम्मान होता है. कुछ पशु ऐसे हैं जिनका जनता में काफ़ी…

मूल रूप से अरबी हैं भारत के लोगों की पसंदीदा ये मिठाई, पढ़िए वैभव मिश्रा का आलेख…

ठंड के मौसम में दुकानों पे अपने चटक रंग से आकर्षित करने वाला और शाम को घर में, अपनों की महफिल में या तनहा ही सही पर इस गर्म-मीठा-चित्ताकर्षक गाजरकाहलवा…

बीजान्टिन साम्राज्य के ख़िलाफ़ इस मुस्लि’म महिला ने लड़ी थी निर्णायक लड़ाई

ख्वला बिंत अल अज़वार (अरबी خولة بنت الأزور) पैगंबर मुहम्मद (स) के जीवन के दौरान एक प्रमुख महिला थी। ख्वला एक मुस्लिम अरब यो’द्धा थी, 7वीं शताब्दी मुस्लिम विजय के…

पागल हाथी दौड़ा था 14 साल के औरंगज़ेब की तरफ़ और फिर…

मुग़ल बादशाह औरंगज़ेब अपने दौर के सबसे ताक़तवर बादशाह थे. उनके दौर में भारत विश्व का सबसे शक्तिशाली देश था जिसकी अर्थव्यवस्था दुनिया की नंबर एक अर्थव्यवस्था थी लेकिन हम…

इस मुस्लिम देश के लिए खास है आज का दिन,यूएन में शामिल होकर रचा था इतिहास

द्वितीय विश्व युद्ध की समाप्ति के बाद संयुक्त राष्ट्र की स्थापना हुई। इस संस्था का देखा जाए तो प्रारूप वही था जो लीग ऑफ नेशन्स का था, लीग ऑफ नेशन्स…

आज के दिन उस्मानिया हुकुमत ने दुनिया में अपनी धाक जमाई थी ,रोमन को दी थी करारी शिकस्त

एक समय बीज़ान्टिन एम्पायर का बहुत नाम था। रोमन एम्पायर के बाद बीज़ान्टिन ने ही साम्राज्य स्थापित किया था। एक समय ऐसा लगता था कि ये ईसाई साम्राज्य कभी हराया…

अंग्रेज़ों ने खोला था औरंगज़ेब के ख़िलाफ़ मोर्चा, और फिर..

इतिहास की किताबों में हमने बहुत से यु-द्धों के बारे में पढ़ा है लेकिन एक ऐसा यु-द्ध रहा है जिसका ज़िक्र बहुत सी किताबों में नहीं है.कुछ लोगों को लगता…

मुसलमानों के कारवाँ पर किया सवाल और फिर…

इतिहास में ऐसे बहुत से रूलर हुए हैं जिन्होंने ज़िन्दगी मरहले पर अपना मज़हब बदल लिया है. कई बार इसके राजनीतिक कारण भी रहे तो कई बार सामाजिक भी. परन्तु…

जब बाबर के सामने यु-द्ध के मैदान से भाग खड़ा हुआ राणा सांगा

ज़हीरुद्दीन मुहम्मद बाबर मुग़ल साम्राज्य के पहले बादशाह थे. 23 फ़रवरी, 1483 को अंदिजन (जो आज उज़्बेकिस्तान में है) में जन्मे बाबर ने 1 अप्रैल, 1526 को भारत में मुग़ल…

हमेशा लोगों की भलाई में आगे रहते थे महान मुग़ल, इस तरह..

मुग़ल साम्राज्य (1526 -1540 और 1555-1857) [कुल 317 साल]-1. ज़हीरुद्दीन मुहम्मद बाबर: ये मुग़ल साम्राज्य के पहले बादशाह थे. 23 फ़रवरी, 1483 को अंदिजन (जो आज उज़्बेकिस्तान में है) में…