NRC और CAA के विरो’ध में महि’लाओं का प्रदर्श’न जारी,’सरकार आज बात करने नहीं आएगी तो..’

लखनऊ: नागरिकता संशिधन क़ानून को लेकर वि’रोध थमने का नाम नहीं ले रहा है. उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में भी इसका वि’रोध हो रहा है. दिल्ली के शाहीन बाग़ की तरह लखनऊ में भी महि’लाओं ने यहाँ विरो’ध का बिगुल फूँका हुआ है. पुराने लखनऊ के घंटा घर में औरतों ने धरना जारी रखा हुआ है. सबसे अच्छी बात यहाँ पर ये देखने को मिल रही है कि कोई भी राजनीतिक दल इस मुहिम को लीड करने की कोशिश में नहीं है लेकिन ज़रूरत की चीज़ें प्रद’र्शनकारी म’हिलाओं तक पहुँचाने के लिए लोग काम कर रहे हैं.

घंटा घर जाकर हमारी टीम ने प्र’दर्शन कर रहीं कुछ महि’लाओं से बात की. यहाँ मौजूद म’हिलाओं ने बताया कि उनका प्रद’र्शन इस काले क़ानून के ख़ि’लाफ़ है. एक प्रदर्श’नकारी से जब हमने पूछा कि सरकार की ओर से कोई बात करने नहीं आ रहा है तो आपका धरना कब तक चलेगा. इस पर महि’ला ने कहा कि कोई आज बात करने नहीं आ रहा है तो कल आएगा. इस तरह के विश्वास से भरपूर औरतें वहाँ नज़र आयीं. पुलिस भी कभी कम कभी ज़्यादा तादाद में नज़र आती रहती है.

सोमवार की रात पुलिस की गश्त अचानक बढ़ गई और कुछ लोग ये चर्चा करने लगे कि शायद पुलिस प्रद’र्शनकारियों को हटाने के लिए बल का इस्तेमाल करे. परन्तु ऐसा नहीं हुआ और गश्त लगाकर पुलिस वापिस अपने ठिकाने पर पहुँच गई. पुलिस ने यहाँ कुछ इस तरह के काम भी किए हैं जिसकी वजह से पुलिस को अमानवीय भी कहा गया और इसकी जमकर आलोचना हुई.

पुलिस पर आधी रात में कम्बल लेकर जाने के आरोप लगे जिसका वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो गया. पुलिस ने टॉयलेट भी बंद कर दिए और खाने पीने की चीज़ें भी लेकर चले गए. पुलिस की ओर से न तो इस मामले कोई विशेष सफ़ाई दी गई और न ही जनता के बीच भरोसा क़ायम करने की कोई कोशिश ही की गई.

About Arghwan Rabbhi

Arghwan Rabbhi is a researcher and journalist.

View all posts by Arghwan Rabbhi →

Leave a Reply

Your email address will not be published.