बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आज इस्तीफ़ा दे दिया है. नीतीश कुमार ने बताया कि पार्टी नेताओं के साथ हुई बैठक में ये फ़ैसला हुआ कि जदयू को NDA का साथ छोड़ देना चाहिए. भाजपा के नेतृत्व वाले NDA गठबंधन से अलग होने के बाद उन्होंने राजद-कांग्रेस के महागठबंधन में जाने का फ़ैसला किया है.

अपना इस्तीफ़ा राज्यपाल को सौंपने के बाद वो तुरंत पूर्व मुख्यमंत्री और राजद नेत्री राबड़ी देवी के आवास पर पहुँचे. राबड़ी राजद अध्यक्ष लालू यादव की पत्नी हैं और तेजस्वी यादव की माँ हैं. बिहार की राजनीति में लालू यादव का परिवार बहुत अहम् माना जाता है.

आपको बता दें कि नीतीश मंगलवार दोपहर करीब 3.45 बजे राज्यपाल फागू चौहान से मिलने के लिए निकले. उन्होंने मुख्यमंत्री आवास से करीब 500 मीटर दूर राजभवन जाकर राज्यपाल से मुलाकात की और अपना त्यागपत्र सौंप दिया. नीतीश जब राजभवन पहुंचे तो उसके बीच समर्थकों की भारी भीड़ ‘ज़िन्दाबाद’ के नारे लगा रही थी. जेडीयू की विधायक दल की बैठक में नीतीश ने बीजेपी पर उन्हें अपमानित करने का आरोप लगाया. साथ ही उनकी पार्टी तोड़ने की तोहमत भी मढ़ी.नीतीश कुमार बाद में तेजस्‍वी यादव से मिलने के लिए बिहार की पूर्व सीएम राबड़ी देवी के आवास के लिए निकल गए.

इस बीच राजद और कांग्रेस ख़ेमे में ख़ुशी की लहर देखी जा सकती है. राजद कार्यकर्ता बिहार के अलग-अलग ज़िलों में कार्यालयों पर जमा हो रहे हैं, वहीं कांग्रेस के दिल्ली तक के नेताओं में बिहार में नए गठबंधन के बनने की ख़ुशी महसूस की जा सकती है. वहीं सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने इसे अच्छी शुरुआत कहा.

उन्होंने कहा कि आज के ही दिन “अंग्रेज़ों भारत छोड़ो” का नारा दिया गया था और आज बिहार से ‘भाजपा भगाओ’ का नारा शुरू हो गया है.

By Arghwan Rabbhi

Arghwan Rabbhi is a researcher and journalist.

Leave a Reply

Your email address will not be published.