मुस्लिम धर्मगुरुओं की बात पर मान गए CM योगी, कहा- विचार करेंगे..

April 13, 2021 by No Comments

लखनऊ. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगल के रोज़ मुस्लिम धर्मगुरुओं से बातचीत की. इस मौक़े पर मुस्लिम धर्मगुरुओं की ओर से एक-दो माँगें भी पेश की गईं. रमज़ान के मद्देनज़र मुस्लिम धर्मगुरुओं ने उत्तर प्रदेश सरकार से कुछ रियायत माँगी. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बातचीत में कहा कि आस्था का सम्मान होना चाहिए लेकिन आस्था मानव के लिए है, मानव आस्था के लिए नहीं है. मानव ही नहीं रहेगा तो कुछ नहीं बचेगा. आस्था को किनारे रख मानवता बचाना होगा, इसलिए धर्मस्थलों के लिए बने मानकों का पालन करें और प्रशासन का सहयोग करें.

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली ने सीएम योगी से कहा कि दो नियमों में थोड़ी रियायत दी जाए क्योंकि रमजान का महीना शुरू हो गया है. उन्होंने कहा कि मुख्य सचिव ने आदेश जारी किया था कि खुली जगहों पर अधिकतम 100 लोग जबकि बंद जगहों जैसे हॉल में अधिकतम 50 लोग जमा हो सकते हैं. ऐसे में यही नियम इबादतगाहों के लिए भी लागू किया जाए.

उल्लेखनीय है कि सरकार ने कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए ये आदेश जारी किया था कि धर्म स्थलों में एक बार में पांच लोग ही प्रवेश करेंगे. इसी नियम में ढ़िलाई की मांग फरंगी महली कर रहे थे. उन्होंने और एक दूसरे मुस्लिम धर्मगुरु मौलाना कल्बे जव्वाद ने भी मांग की है कि नाइट कर्फ्यू को थोड़ा आगे बढ़ाया जाये.

फरंगी महली के ही साथ कल्बे जव्वाद ने भी कहा कि रमजान के महीने में रोज़ा खोलते-खोलते रोजेदारों को रात के 8 बज जाता है. नाइट कर्फ्यू 9 बजे से प्रभावी हो जाता है. ऐसे में दुकानें इससे आधे घंटे पहले ही बंद हो जाती हैं. इस वजह से रमज़ान की खरीददारी में बहुत समस्याएं आ रही हैं. ऐसे में रात 9 बजे की बजाय 10 बजे से नाइट कर्फ्यू लगाया जाए.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *