क्या दूसरे मुस्लिम नेताओं को ही हराकर जीती AIMIM? पढ़ें कि क्या है सही..

November 11, 2020 by No Comments

आल इंडिया मजलिस ए इत्तिहादुल मुस्लिमीन ने पाँच सीटें जीती हैं और ये सभी मुस्लिम उम्मीदवार ही हैं. कांग्रेस के टिकट पर दो मुस्लिम नेताओं ने जीत हासिल की है. बसपा के टिकट पर भी एक मुस्लिम उम्मीदवार ने चुनाव जीता है. कुल संख्या अगर जोड़ें तो 17 मुस्लिम नेताओं ने जीत हासिल की है. ये कुल विधानसभा का 7% के क़रीब है. आपको बताएं कि आल इंडिया मजलिस ए इत्तिहादुल मुस्लिमीन ने पाँच सीटें जीतकर तहलक़ा मचा दिया है.AIMIM ने जो पाँच सीटें जीती हैं उनमें से तीन पर उसने मुस्लिम उम्मीदवार को ही हराया है.

आमौर से AIMIM के अख्तरुल ईमान ने जदयू की सबा ज़फ़र को हराया, इसी सीट पर कांग्रेस ने अब्दुल जलील मस्तान को उम्मीदवार बनाया था. ये त्रिकोणीय मुक़ाबला था जिसमें अख्तरुल ईमान कामयाब हुए. बहादुरगंज में AIMIM के मुहम्मद अंज़र नईमी ने 45215 वोटों से VIP के लखनलाल पण्डित को शिकस्त दी. यहाँ तीसरे नम्बर पर मुहम्मद तौसीफ़ आलम रहे. मुक़ाबला यहाँ भी त्रिकोणीय था. बैसी से सैयद रुकुनुद्दीन अहमद ने भाजपा के विनोद कुमार को 16373 वोटों से हराया.यहाँ तीसरे नम्बर पर राजद के अब्दुस सुभान रहे. सुभान भी मुक़ाबले में थे लेकिन पिछड़ गए.

जोकीहाट से शाहनवाज़ ने AIMIM के टिकट पर चुनाव ल’ड़कर राजद के सरफ़राज़ आलम को 7383 वोट से शिकस्त दी. मुस्लिम बहुल्य सीट पर भाजपा ने भी जमकर ल’ड़ाई ल’ड़ी. भाजपा के रणजीत यादव को 48933 वोट मिले जबकि सरफ़राज़ आलम को 52212 वोट मिले और जीते हुए शाहनवाज़ को 59596 मिले. कोचाधामन से मुहम्मद इज़हार सैफ़ी ने जदयू के मुजाहिद आलम को हराया. राजद नेता मुहम्मद शाहिद आलम तीसरे नम्बर पर रहे.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *