नई दिल्ली/भोपाल: कर्णाटक में जिस तरह कांग्रेस और जेडीएस के विधायकों ने आख़िरी समय में अपनी पार्टी का साथ छोड़ा उससे ऐसा लगने लगा था कि दूसरे राज्यों में भी कांग्रेस के विधायक अपनी पार्टी छोड़ सकते हैं. इसके पीछे जानकार मान रहे हैं कि भाजपा कांग्रेस के विधायकों को तो’ड़ने की कोशिश में लगातार लगी है लेकिन अब जो ख़बर आ रही है उसने भाजपा के होश उड़ा दिए हैं.

एक समय भाजपा ये दावा करती थी कि जल्द ही बाक़ी के वो राज्य जिनमें कांग्रेस की सरकार है वहाँ भी भाजपा की सरकार होगी. इन राज्यों में सबसे पहले भाजपा मध्य प्रदेश का नाम लेती थी. अब लेकिन मध्य प्रदेश से ऐसी ख़बरें आ रही हैं कि राज्य के बड़े भाजपा नेता बगलें झाँकने को मजबूर हैं. मध्य प्रदेश कांग्रेस दावा कर रही है कि उसके संपर्क में कई भाजपा विधायक हैं.

इस तरह की भी ख़बरें आयी हैं कि एक भाजपा विधायक ने मुख्यमंत्री कमलनाथ से मुलाक़ात की है. भाजपा इस पूरे मामले से चिंतित नज़र आ रही है. इस बीच कंप्यूटर बाबा ने भी दावा किया कि उनके संपर्क में चार भाजपा विधायक हैं जो जल्द ही कमलनाथ सरकार में शामिल होंगे. ऐसी ख़बरें आ रही हैं कि जल्द ही 3 विधायक भाजपा छोड़ सकते हैं. राज्य सरकार के जनसंपर्क मंत्री पी.सी. शर्मा भी इस बारे में बयान दे चुके हैं.

आपको बता दें कि जब मध्य प्रदेश विधानसभा में क्रिमिनल लॉ के संशोधन के लिए वोटिंग हुई तो उसमें भाजपा के दो विधायकों ने कमलनाथ सरकार के पक्ष में वोट डाला. इसके बाद कमलनाथ ने कहा कि भाजपा के लोग कहते रहते हैं कि हमारी सरकार अल्पमत की है, अल्पमत की है और ये एक ऐसी सरकार है जो किसी भी दिन गिर सकती है.

कमलनाथ ने कहा कि सदन में वोटिंग हुई और दो भाजपा विधायकों ने सरकार के पक्ष में वोट किया. इसके पहले भाजपा के वरिष्ठ नेता और सदन में प्रतिपक्ष के नेता गोपाल भार्गव ने कहा कि हमारे ऊपर वाले नंबर 1 या नंबर 2 का आदेश हुआ तो 24 घंटे भी आपकी सरकार नहीं चलेगी. इसके बाद कमलनाथ ने पलटवार करते हुए कहा कि आपके ऊपर वाली नंबर 1 और नंबर 2 समझदार हैं, इसलिए आदेश नहीं दे रहे हैं..आप चाहें तो अविश्वास प्रस्ताव ले आयें.

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.