भारत की राजनीति में कई ऐसे नेता मौजूद हैं। जो कि शाही परिवारों से ताल्लुक रखते हैं। आज हम आपको उत्तर प्रदेश की एक ऐसी ही महिला नेता के बारे में बताने जा रहे हैं। जो भदावर रियासत की रानी है। इनका नाम है रानी पक्षालिका सिंह। भदावर रियासत आगरा के पास चंबल घाटी में है। इसीलिए इन्हें बीहड़ की रानी भी कहा जाता है।

एक वक्त हुआ करता था जब रानी पक्षालिका सिंह समाजवादी पार्टी के मुखिया मुलायम सिंह यादव की करीबी मानी जाती थी। लेकिन साल 2017 में उन्होंने भारतीय जनता पार्टी का दामन थाम लिया। पक्षलिका बाह तहसील विधानसभा क्षेत्र से बीजेपी की विधायक हैं। इससे पहले साल 2012 के उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में पक्षालिका सिंह ने समाजवादी पार्टी से चुनाव लड़ा था। लेकिन वह जीत नहीं हासिल कर पाई थी।

जिसके चलते उन्होंने साल 2017 के विधानसभा चुनाव में भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़ा और वह पहली बार विधायक बनी। साल 2017 में भाजपा की टिकट पर विधायक चुनी गईं पक्षलिका मौजूदा विधानसभा की तीसरी सबसे अमीर विधायक हैं। इसके साथ ही आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश की महिला विधायकों में उनसे ज्यादा संपत्ति किसी के पास नहीं है।

साल 2017 के विधानसभा चुनाव में अपने चुनावी हलफनामे में रानी पक्षलिका सिंह ने बताया था कि उनके पास करीब 59 करोड़ रुपए की संपत्ति है। इसमें करीब 4 करोड़ रुपए की चल और 55 करोड़ की अचल संपत्ति है। चुनावी हलफनामे में दी गई जानकारी के मुताबिक रानी पक्षालिका सिंह ने यह भी बताया था कि उनके नाम पर करीब 50 लाख रुपए की कीमत के 22 बोर की एक एनपीबी राइफल, पिस्टल और डीबीबीएल ग’न है।

इसके अलावा रानी पक्षालिका सिंह के पति राजा अरिदमन सिंह भी संपत्ति के मामले में कम नहीं है। बात की जाए उनके पास मौजूद अ’सलहों की तो उनके नाम पर 12 बोर की एक डीबीबीएल ग’न, एक पि’स्टल, एक का’र्बाइन, 34 त’लवा’र, 8 चा’कू, 31 खं’जर और 53 छु’रे हैं। इस तरह से इनके घर में कुल 132 घो’षित ह’थियार मौजूद हैं।

रानी पक्षालिका सिंह के पति राजा अरिदमन सिंह समाजवादी पार्टी के विधायक और मंत्री रह चुके हैं लेकिन अब वह भी अपनी पत्नी के साथ भारतीय जनता पार्टी के नेता हैं। उत्तर प्रदेश विधानसभा में ऐसे सिर्फ दो ही विधायक हैं। जो संपत्ति के मामले में रानी पक्षालिका सिंह से ऊपर हैं। इनमें पहले नंबर पर बसपा के गुड्डू जमाली हैं तो दूसरे पर बसपा के ही विनय शंकर तिवारी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *