इंग्लैंड क्रिकेट टीम के दिग्गज आलराउंडर मोईन अली अपने बेहतरीन प्रदर्शन के साथ-साथ अपने धार्मिक कामो के लिए भी जाने जाते है मोईन अली अपने धर्म के प्रति बहुत जागरूक रहते है अक्सर मोईन अली से जुडी कई सारी चीज़े सामने अति है जिसमे इस्लाम धर्म के प्रति बहुत जागरूक दिखाई देते है. मोईन अली एक ज़बरदस्त स्पिनर बॉलर और बैट्समैन है, इनकी फैन फोल्लोविंग भी ज़बरदस्त है हाल ही में ऐसा वाक़्या सामने आया जिसकी वजह से मोईन अली की हर तरफ जमकर तारीफ हो रही है. अक्सर देखने को मिलता है कि मुस्लिम खिलाडी अपने धर्म इस्लाम को लेकर कुछ ऐसा कदम उठाते है जिसकी वजह से फैंस उन्हें काफी पसंद करते है, आइये आप को बताते है आखिर क्या मामला है.

इंडियन प्रीमियर लीग में टीम चेन्नई सुपर किंग्स ने इंग्लैंड क्रिकेट टीम के आलराउंडर मोइन अली की मांग पर उनकी जर्सी से शराब के ब्रांड का टैग हटा दिया है। बता दें कि मोईन अली इस्लाम धर्म का पालन करते हैं, जिसमें शराब का पीना और उसके बेचने और बेचने में सहायता करना भी सख्त माना है।

मोईन अली ने आईपीएल में शामिल होने से पहले ही सीएसके के सामने अपनी ये मांग रखी थी कि वो आईपीएल 2021 के मैचों के दौरान टीम की जर्सी पर शराब के ब्रांड का टैग नहीं लगाना चाहते हैं। सीएसके ने उनकी इस मांग को मान लिया था। सीएसके ने मोईन अली को 7 करोड़ में खरीदा था। हालांकि पिछले सीजन वह विराट कोहली की टीम रॉयल चैलेंर्स बैंगलोर के लिए खेले थे।

आप को बता दे कि इससे पहले दक्षिण अफ्रीका के पूर्व दिग्गज क्रिकेटर हाशिम अमला भी अपनी राष्ट्रीय टीम की जर्सी पर बीयर कंपनी का टैग लगाने से इनकार कर चुके थे, जिसके कारण से उनकी मैच फीस का हिस्सा काट लिया जाता है।

इससे पहले भी आईपीएल 2013 में भारतीय क्रिकेटर परवेज रसूल ने भी ऐसा ही किया था परवेज रसूल ने पुणे वॉरियर टीम की तरफ से खेलते हुए अपनी टीम की जर्सी पर बने शराब के टैग को छिपा लिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *