नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट टीम के तेज़ गेंदबाज़ मुहम्मद शमी एक बार फिर मुश्किल में फंसते नज़र आये. हालाँकि इस बार उन्हें BCCI ने बचा लिया. शमी का पुलिस रिकॉर्ड उनके लिए मुसीबत बनता जा रहा है. उनके ऊपर जो पुलिस केस है वो लगातार उन्हें परेशान करता रहता है. असल में घरेलु हिं’सा और एडल्टरी के आरोप में पुलिस में उनके ख़िलाफ़ मामला दर्ज है. इस वजह से उनका अमरीका का वीज़ा रोक लिया गया था.

इसके तुरंत बाद BCCI ने मामले को समझने की कोशिश की और दख़ल देकर इसको सुलझाया. इसके बाद ही मुहम्मद शमी को वीज़ा दिया गया. शमी की उपलब्धियों की जानकारी अमरीकी दूतावास को दी गईं जिसके बाद उन्हें वीज़ा दिया गया. बीसीसीआई सूत्रों के मुताबिक, भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड सीईओ राहुल जौहरी ने यूएस एंबेसी को एक खत लिखा, जिसके बाद उन्हें वीजा दिया गया।

राहुल जौहरी ने संयुक्त राज्य अमरीका की एंबेसी को लिखे ख़त में मुहम्मद शमी की उपलब्धियों के साथ-साथ हसीन जहां से चल रहे विवाद की भी पूरी जानकारी दी। बीसीसीआई के दख़ल के बाद मुहम्मद शमी को राहत मिली और उनका वीज़ा अप्रूव किया गया। उल्लीख्नीय है कि भारतीय खिलाड़ियों का वीज़ा आवेदन P1 कैटेगरी में दिया था।

इस बारे में BCCI के सूत्रों ने एक समाचार एजेंसी को बताया,”हाँ, शमी ने वीजा के लिए जब आवेदन किया तो पहले उनकी वीजा यूएस एंबेसी ने रिजेक्ट कर दिया। जांच के दौरान पाया गया कि पुलिस वैरिफिकेशन रिकॉर्ड पूरा नहीं था। हालांकि, अब यह मामला सुलझ गया है। सभी जरूरी दस्तावेज जमा करा दिए गए हैं।” उन्होंने आगे कहा, ‘जब पहली बार वीजा रिजेक्ट हुआ तब सीईओ राहुल जौहरी ने इस मामले में दखल दिया और अमेरिकन वाणिज्यिक दूतावास को एक पत्र लिखा। इस पत्र में शमी की उपलब्धियों के साथ-साथ वर्ल्ड कप में उनकी भागीदारी का भी ज़िक्र किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *