मोदी सरकार के आरोप पर ममता बनर्जी का जवाब,”हमें प्रचंड जीत मिली है इसलिए..”

कोलकाता: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और केंद्र सरकार के बीच विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है. भाजपा के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार और तृणमूल कांग्रेस नेतृत्व वाली पश्चिम बंगाल सरकार में पिछले कई महीनों से विवाद चल रहा है. पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के दौरान भी केंद्र सरकार और राज्य सरकार टकराव पर थी.

एक बार फिर इस तरह की बात सामने आ गई है. चक्रवात यास (Cyclone Yaas) के असर का जायज़ा लेने बंगाल गए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) की समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) के कथित रूप से देर से पहुंचने को लेकर खड़ा हुआ विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है. इस मामले में अब ख़ुद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी सामने आयी हैं और अपनी बात उन्होंने मीडिया से कही है.

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उनका अपमान कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी इस तरह से मेरा अपमान न करें. ममता ने कहा, “हमें प्रचंड जीत मिली है इसलिए आप ऐसा व्यवहार कर रहे हैं? आपने सब कुछ करने की कोशिश की और हार गए. हमारे साथ हर दिन झगड़ा क्यों कर रहे हैं?”

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को बंगाल के पश्चिम मिदनापुर जिले के कलाईकुंडा एयर बेस में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के साथ 15 मिनट की बैठक की. बैठक में चक्रवात यास से हुए नुकसान का आकलन किया गया. सूत्रों के मुताबिक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सीएम ममता का लगभग 30 मिनट का इंतजार करना पड़ा.

ममता बनर्जी पीएम से मिलीं और दस्तावेज सौंपने के बाद वहां से चली गईं. इसके बाद से भाजपा ममता बनर्जी पर हमलावर है. भाजपा के कई वरिष्ठ नेताओं ने ममता बनर्जी पर प्रधानमंत्री के पद का अपमान करने का आरोप लगाया है. राजनाथ सिंह, जेपी नड्डा, सुवेंदु अधिकारी समेत कई भाजपा नेताओं ने ममता बनर्जी पर पीएम पद का आपमान करने का आरोप लगाया है.

केंद्र सरकार ने कहा कि मुख्यमंत्री अपने राज्य के लोगों के कल्याण के प्रति कठोर, अभिमानी और सर्वोच्च रूप से बेपरवाह हैं. उन्होंने अपने तुच्छ व्यवहार से संघवाद को झटका दिया है राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने ममता बनर्जी पर सीधे प्रधानमंत्री का “बहिष्कार” करने का आरोप लगाया है. हालाँकि तृणमूल कांग्रेस ने साफ़ कर दिया है कि ग़लती उनकी तरफ़ से नहीं बल्कि ये सब जानबूझकर उन्हें परेशान करने के लिए हुआ है.

About Arghwan Rabbhi

Arghwan Rabbhi is a researcher and journalist.

View all posts by Arghwan Rabbhi →

Leave a Reply

Your email address will not be published.