ममता बनर्जी को जिताने के लिए राहुल गांधी ने चला था ये दाँ’व, अब कांग्रेस के लिए..

कोलकाता: पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के लिए 8 चरणों मे से चार चरणों की वोटिंग प्रक्रिया पूरी हो चुकी है। बाकी के बचे हुए 4 चरणों के मतदान के लिए सभी राजनीतिक द’ल अपनी पूरी ता’कत लगा रहे है। भाजपा और तृणमूल कांग्रेस एक दूसरे से आगे निकल जाने की ज़ि’द में लगातार कोशिशें कर रहे हैं। राज्य की जनता के बीच ये दोनों ही दल अपने आप को ज़्यादा से ज़्यादा सही सा’बित करने की कोशिश कर रहे हैं। बयानबा’जी इन दोनों दलों के बीच खू’ब चालू है।

यहां अब गौ’र करने वाली एक बात यह है कि राज्य में अभी तक के हुए 4 चरणों के चुनाव में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी चुनाव प्रचार से दूर थे। जानकारों की मानें तो राहुल गांधी नहीं चाहते थे कि वो चुनाव प्रचार में पहले ही दिन से उतरें और इसका फ़ा’यदा भाजपा को हो जाए. अं’दरूनी सूत्रों की मानें तो राहुल चाहते हैं कि तृणमूल कांग्रेस चुनाव जीते क्यूँकि उनका गठ’बंधन यहाँ काफ़ी कमज़ोर नज़र आ रहा है.

हालाँकि राहुल 14 अप्रैल से चुनाव प्रचार करेंगे. ऐसे में सिर्फ़ चार चरण की वोटिंग के लिए ही राहुल गांधी का प्रचार होगा. कांग्रेस नेता बहुत स’मझदारी दिखा रहे हैं और नहीं चाहते कि किसी भी तरह से सेक्युलर वोट बं’टे और भाजपा की चाँदी हो जाए. ख़बर है कि अपने चुनाव प्रचार की रणनीति के तहत वो पहले प्रचार अभियान में बंगाल के गो’लपोखर और मा’टीगारा-न’क्सलबाड़ी में रैलियों को संबो’धित करेंगे.


पश्चिम विधानसभा चुनाव 294 सीटों के लिए 8 चरणों में संपूर्ण होना है। अभी तक 4 चरणों की वोटिंग हो चुकीं हैं। पश्चिम बंगाल में कांग्रेस ने वाम दलों के साथ गठ’बंधन किया है। गठबंधन के तहत कांग्रेस राज्य में केवल 92 सीटों पर ही चुनाव लड़ रही है। जिन 92 सीटों पर चुनाव होने वाले हैं उनमें विधानसभा की 45 सीटों पर 17 अप्रैल को पांचवें चरण में मतदान होने वाले हैं। तो वहीं, पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के नतीजे 2 मई को सामने आएंगे।

About Arghwan Rabbhi

Arghwan Rabbhi is a researcher and journalist.

View all posts by Arghwan Rabbhi →

Leave a Reply

Your email address will not be published.