ममता के एक्शन से भाजपा परेशान, राज्य के सबसे बड़े नेता के ख़िलाफ़..

कोलकाता: ऐसा लगता है कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस की अध्यक्ष ममता बनर्जी ने भाजपा को राज्य में हर तरह से कमज़ोर करने की ठान ली है. उन्होंने साफ़ कर दिया है कि भले ही चुनाव ख़त्म हो गए हों लेकिन भाजपा ये न समझे कि उसके लिए कोई आसानी होगी. अब ख़बर है कि ममता बनर्जी ने विधानसभा चुनाव में नंदीग्राम सीट पर बीजेपी नेता शुभेंदु अध‍िकारी की जीत को कलकत्ता हाईकोर्ट में चुनौती दी है.

बता दें कि चुनाव आयोग ने नंदीग्राम विधानसभा सीट पर फिर से मतगणना कराने के तृणमूल कांग्रेस के अनुरोध को खारिज कर दिया था. 2 मई को हुई मतगणना में शुभेंदु अध‍िकारी के हाथों हारने के बाद ही ममता बनर्जी ने कोर्ट जाने का फैसला किया था. मतगणना के एक दिन बाद, उन्होंने दावा किया था कि निर्वाचन क्षेत्र में मतगणना की निगरानी करने वाले चुनाव अधिकारी को धमकी दी गई थी.

अपने मोबाइल पर एसएमएस पढ़ते हुए ममता बनर्जी ने पत्रकारों से कहा था, “मुझे किसी से एक एसएमएस मिला जिसमें नंदीग्राम के रिटर्निंग ऑफिसर ने किसी को लिखा है कि अगर वह फिर से गिनती की अनुमति देता है तो उसकी जान को खतरा होगा. मैं पुनर्गणना का आदेश नहीं दे सकता. मेरा परिवार बर्बाद हो जाएगा. मेरी एक छोटी बेटी है.”

हालांकि ममता बनर्जी ने नंदीग्राम में मतगणना के बाद ही चुनाव करवाने में गड़बड़ी के आरोप लगाये थे और कहा था कि वो इसे लेकर कोर्ट भी जाएंगी. बता दें कि नंदीग्राम में मतगणना के दौरान एक समय था कि ममता बनर्जी ने शुभेंदु अधिकारी को 11 राउंड से पीछे छोड़ दिया था लेकिन अगले चार राउंड में रुझान बदल गया. अधिकारी ने फाइनल राउंड में जीत हासिल की और उन्हें विजेता घोषित किया गया.

About Arghwan Rabbhi

Arghwan Rabbhi is a researcher and journalist.

View all posts by Arghwan Rabbhi →

Leave a Reply

Your email address will not be published.