कोलकाता: पश्चिम बंगाल में यास चक्रवात से प्र’भावित लोगों के लिए राहत कार्यों से जुड़ी पीएम मोदी की समीक्षा बैठक में वि’वाद हो गया। दरअसल, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के इस समीक्षा बैठक में कथित तौर पर देरी से पहुंचने को लेकर हं’गामा खड़ा हो गया। इसी विषय को लेकर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और गृह मंत्री अमित शाह समेत बीजेपी के कई नेताओं ने ममता बनर्जी पर सवाल खड़े किए हैं।

बीजेपी और तृणमूल कांग्रेस के बीच वाद-विवाद जारी है। तृणमूल कांग्रेस से सांसद महुआ मोइत्रा ने बीजेपी पर तंज़ कसते हुए ट्वीट में लिखा, ” 30 मिनट की कथित देरी को लेकर बहुत हंगामा हुआ? 15 लाख रुपये के लिए भारतीय 7 साल से इंतजार कर रहे हैं। एटीएम के बाहर घंटों इंतजार कर रहे। वैक्सीन के लिए महीनों से इंतजार कर रहे हैं। थोड़ा आप भी इंतजार कर लीजिए कभी-कभी।

आपको बता दें कि, पीएम मोदी ने शुक्रवार को यास चक्रवात में प्रभावित हुए पश्चिम बंगाल और ओडिशा के इलाकों का दौरा किया था। उसके बाद वो बंगाल पहुंचे थे। अन्य खबरों के मुताबिक, पीएम मोदी को ममता बनर्जी का आधे घन्टे तक इंतज़ार करना पड़ा। ममता पीएम मोदी को कुछ डॉक्यूमेंट देने के बाद वापस चली गई।

गृह मंत्री अमित शाह ने ममता बनर्जी पर नि’शाना साधते हुए कहा कि, ममता दीदी का आज किया हुआ आचरण दु’र्भाग्यपूर्ण है। यास चक्रवात के कारण बहुत से लोग प्रभावित हुए। दुख की बात है कि दीदी ने अपने अहम को जनकल्याण से ऊपर रखा। ममता बनर्जी ने ट्विटर पर लिखा कि, ”हिंगलगंज और सागर में समीक्षा बैठक करने के बाद, मैं कलाईकुंडा में माननीय प्रधानमंत्री से मिली और उन्हें पश्चिम बंगाल में चक्रवात के बाद की स्थिति से अवगत कराया. उन्हें चक्रवात से हुए नुकसान के अवलोकन के लिए आपदा रिपोर्ट सौंपी गई है. मैं अब दीघा में राहत और बहाली कार्य की समीक्षा करने के लिए निकल रही हूं।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *