महागठबंधन और NDA के ख़ि’लाफ़ कुशवाहा-ओवैसी का तीसरा मोर्चा, बसपा और….

October 8, 2020 by No Comments

पटना: बिहार चुनाव को लेकर ज़ोर-शोर से प्रचार चल रहा है. महागठबंधन और NDA दोनों ही अपनी बात जनता तक पहुँचाने की कोशिश कर रहे हैं वहीँ इन दोनों गठबंधन से नाराज़ होकर एक नया गठबंधन चुनावी मैदान में है. ये गठबंधन अपने आपको थर्ड फ्रंट यानी तीसरा मोर्चा कह रहा है. इस गठबंधन में रालोसपा, बसपा, समाजवादी जनता दल डेमोक्रेटिक और आल इंडिया मजलिस ए इत्तिहादुल मुस्लिमीन जैसे दल हैं.

रालोसपा के नेता उपेन्द्र कुशवाहा को तीसरे मोर्चा का नेता बनाया गया है. इस सिलसिले में समाजवादी जनता दल डेमोक्रेटिक के नेता देवेन्द्र प्रसाद यादव ने कहा है कि उपेन्द्र कुशवाहा तीसरे मोर्चे के नेता होंगे और मुख्यमंत्री का चेहरा होंगे. आज हुई एक प्रेस वार्ता में आल इंडिया मजलिस ए इत्तिहादुल मुस्लिमीन के अध्यक्ष और हैदराबाद से सांसद असदउद्दीन ओवैसी ने कहा,”15 साल नीतीश कुमार और भाजपा, 15 साल राजद और कांग्रेस से बिहार के ग़रीबों को कोई फ़ायदा नहीं हुआ.. राज्य सामाजिक-आर्थिक-शैक्षिक मानकों पर पिछड़ रहा है..ये गठबंधन बिहार के भविष्य के लिए है..हम पूरी कोशिश करेंगे कि ये कामयाब हो.


बिहार में तीसरा मोर्चा कैसे काम करेगा और कुछ सीटें जीत पायेगा या नहीं इस पर असमंजस की स्थिति है लेकिन तीसरा मोर्चा जिस तरह से काम कर रहा है उससे ऐसी उम्मीद की जा रही है कि ये महागठबंधन को नुक़सान पहुंचाएगा. ओवैसी बहुत दिन से इस तरह के गठबंधन की तलाश कर रहे थे क्यूंकि वो बिहार की सियासत में अपना पैर जमाना चाहते हैं. इस गठबंधन से अब उन्हें क्या फ़ायदा होता है ये आगे देखने को मिलेगा.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *