नई दिल्ली: भारतीय ज’नता पा’र्टी के ने’तृत्व वाली मोदी सर’कार ने आज नागरि’कता संशो’धन विधेयक लोकसभा में पे’श किया. ये लोकसभा में पास हो गया लेकिन राज्यसभा में अभी इसका पा’रित होना बाक़ी है. जान’कार मानते हैं कि विप’क्ष ने अपनी सारी रणनी’ति राज्यसभा के लिए ही की हुई है क्यूँकि राज्यसभा में सर’कार के पास बहुम’त नहीं है. सर’कार के सू’त्र बताते हैं कि आर्टि’कल 370 को निष्क्रि’य करने के समय जिस तरह से मोदी सर’कार को सम’र्थन मिला था, इस बार भी मि’लेगा ऐसा कहना मुश्कि’ल है.

असल में राज्यसभा में फ़िल’हाल कुल सदस्यों की संख्या 239 है और बि’ल को पास होने के लिए 119 वोट की ज़रू’रत होगी. NDA के पास कुल 115 सीटें हैं लेकिन ये सभी सर’कार के इस बि’ल पर प’क्ष में वो’ट करेंगे ऐसा कहना मुश्कि’ल है. जो भाजपा के प’क्ष में वोट कर सकते हैं उनकी बात करें तो बीजेपी के 83, एआइएडीएमके के 11, बीजेडी के 7 और अका’ली द’ल के 3 सदस्य शामिल हैं. जदयू के 6 सांसद भी अपने गठबं’धन सर’कार के साथ जा सकते हैं.

असल में केंद्र सर’कार को ड’र है कि नार्थ ईस्ट से ता’ल्लुक़ रखने वाले छोटे दल इस बिल के सम’र्थन में वो’ट नहीं करेंगे. बहुत हुआ तो वो इसके ख़िला’फ़ भी वो’ट न करें. पर उससे सर’कार को कोई फ़ा’यदा नहीं होगा. विप’क्ष की बात करें तो विप’क्ष के पास भी 108 वोट हैं. कांग्रेस के 46, तृणमूल कांग्रेस के 13, सपा के 9, सीपीएम और डीएमके के 5-5 और आरजेडी, एनसीपी और बसपा के 4-4 सदस्यों समेत बाकी दलों को मिलाकर विप’क्ष के पास कुल 108 सांसदों का सम’र्थन हासिल है.

शिवसेना ने आज जिस तरह का रु’ख़ दिखाया है उससे लगता है कि वो भी विप’क्ष के साथ जाएगी. शिवसेना के 3 सदस्य हैं. जदयू लोकसभा में तो बिल के सम’र्थन में दिखी है लेकिन राज्यसभा में क्या रु’ख़ रहेगा वो अभी साफ़ होना बाक़ी है.टीआरएस ने अपना रु’ख़ साफ़ कर दिया है कि ये बि’ल का विरो’ध करेगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *