लॉक डाउन में ग़रीबों की मद’द कर रहे हैं नसरुल्लाह, अब तक बाँटा 1 करोड़ से अधिक का..

May 4, 2020 by No Comments

गांधीनगर: कोरोना वायरस को रो’कने के लिए सरकार द्वारा लागू किये गए लॉक डाउन की वजह से कुछ परे’शानियाँ भी आ रही हैं. ग़रीब परिवारों को राशन मिलने में भी समस्याएं आ रही हैं लेकिन जगह जगह पर कुछ लोग मदद भी कर रहे हैं. ख़बर गुजरात के वलसाड ज़िले से है. यहाँ 40 वर्षीय व्यवसायी नसरुल्ला आर ख़ान ने ज़िले के 35 गांवों में गरीब परिवारों को राशन किट वितरित करने के लिए एक महीने से अधिक समय में 1.10 करोड़ रुपये खर्च किए हैं.

जीआईडीसी में इलेक्ट्रिक पैनल निर्माण इकाई चलाने वाले नरसुल्ला ख़ान ने अबतक 21 हज़ार से ज़्यादा परिवारों को अनाज की किट का वितरण किया है. एक ख़बर के मुताबिक़ उत्तर प्रदेश के सिद्धार्थनगर ज़िले के मूल निवासी 39 वर्षीय नसरुल्ला ख़ान कबाड़ और इलेक्ट्रिकल पैनेल के उद्योग से जुड़े हैं. उन्होंने बताया कि सात साल की उम्र से यहां रहते हुए वापी(गुजरात) को कर्मभूमि बनाया है और आज बहुत कुछ पाया है.

उन्होंने बताया कि 24 मार्च को लॉकडा’उन घोषित होने के बाद अपने आसपास के लोगों तथा समाचारों माध्यमों में श्रमिकों व गरीबों को भोजन की समस्या से परेशान देखा तो पूरी रात सो नहीं सका. इतनी कम उम्र में ही ऊपरवाले ने इतना कुछ दिया है तो हमारी यह जवाबदारी बनती है कि सं’कट के समय आसपास के लोगों की दिल खोलकर मदद करें और यही करने का प्रयास किया है.

वापी तहसील के कई गांवों में सरपंचों व स्थानीय लोगों के सहयोग से गरीबों को घर घर जाकर अनाज का वितरण किया. उन्होंने बताया कि इस सेवा यज्ञ को सुचारू रुप से संचालित करने में वार्ड नंबर पांच के पार्षद मोहम्मद ईशा उर्फ बब्लू भाई, करवड सरपंच देवेन्द्र पटेल, जिला पंचायत सदस्य भाविन पटेल एवं डुंगरा थाना प्रभारी आईपीएस आफिसर ओमप्रकाश जाट समेत पुलिस स्टाफ व अन्य सेवाभावी लोगों का सहयोग मिला है।

उनके काम की वापी के अलावा आसपास के क्षेत्रों में भी सराहना हो रही है. उन्होंने बताया कि तीसरे चरण के लॉक डाउन की घोषणा हो गई तो इसको देखते हुए हमने 12 हज़ार से अधिक किट वितरण की योजना बना ली है. अभी तक 135 टन चावल, 80 टन आटा और 32 टन से ज्यादा दाल समेत रोजमर्रा की चीजें वितरित की गई है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *