जेद्दाह: कहते हैं कि जं’ग से किसी का फ़ा’यदा नहीं होता, आप चाहे जितनी जं’ग कर लो आख़ि’र में मसअले का हल बातचीत से ही होता है. माज़ी में बात करें तो चाहे पहला विश्व यु’द्ध हो, दूसरा विश्व यु’द्ध या फिर कि और यु’द्ध, हर एक जं’ग का ख़ात्मा किसी ब’म के गि’राने से नहीं, बातचीत से ही हुआ है. ये बात और है कि ये बात समझने से पहले ला’खों लोग अपनी जा’न गँवा चुके होते हैं.

ये बात हम इसलिए कह रहे हैं क्यूंकि य’मन में लम्बे समय से चले आ रहे गृह यु’द्ध के बारे में अलग-अलग गु’टों ने मान लिया है कि मसअला जं’ग से नहीं हल हो सकता और अब बातचीत कर लेनी चाहिए. संयुक्त अरब एमिरात और सऊदी अरब ने यम’न के अलग-अलग गु’टों से कहा कि अपने झगड़ों को बातचीत से सुलझा लें. असल में UAE और सऊदी अरब के बीच य’मन में कुछ वि’वाद आ गए थे जिसके बाद स्थिति सऊदी अरब के लिए काफ़ी विपरीत हो गई.

UAE ने अब बयान दिया है और कहा है कि बातचीत ही यम’नी के झगड़ों का अंतिम हल है. अबू धाबी के क्राउन प्रिंस शेख़ मुहम्मद बिन ज़ायेद अल नहयान ने कहा कि UAE और सऊदी अरब ने य’मन में लड़ाई कर रहे अलग अलग गु’टों से कहा है कि यम’न के भले के लिए डायलोग क तवाज्जो दें. उन्होंने कहा कि इस अवसर का लाभ उठायें और य’मन की बेहतरी के लिए काम करें.

उन्होंने साथ ही कहा कि अरब कोएलिशन ने यम’न की legitimate सरकार क पुनः स्थापित करने के लिए एतिहासिक काम किया है और इस तरह का काम वो अभी और आने वाले समय में करता रहेगा.साथ ही क्राउन प्रिंस ने कहा कि सऊदी अरब और UAE के सम्बन्ध बेहतर बने रहेंगे क्यूंकि ये सॉलिड बुनियाद पर बने हुए हैं. आपको बता दें कि हाल ही में य’मन में एक नया क्राइसिस आया गया था.

असल में दक्षिण अल’गाववा’दी गु’ट ने राष्ट्रपति पैलेस और आर्मी कैम्प पर क़ब्ज़ा कर लिया था. असल में ये गु’ट अरब कोएलिशन का समर्थक है लेकिन य’मन की सरकार का समर्थक नहीं है. इन्हें आज़ाद यम’न चाहिए. इसी वजह से UAE और सऊदी अरब में भी वि’वाद बढ़ गया. स्थिति यहाँ तक आ गई कि UAE ने हौथी विद्रो’हियों के ख़ि’लाफ़ ल’ड़ रही अपनी फ़ौ’ज को यम’न से वापिस बुला लिया.

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *