सऊदी अरब ने इस पड़ोसी देश की तेल पाइपलाइन कर दी बं’द, वजह जा’नकर हो जाएँगे है’रान

अरब दुनिया

14 सितंबर को सऊदी अरब की बड़ी कंपनी सऊदी अरामको पर हुए ड्रोन हमले के बाद एक बार फिर तेल की सियासत देखने को मिल रही है। सऊदी अरब में तेल उत्पादन 50% से कम हो गया है और इसके ठीक होने में अभी एक हफ़्ते का समय लग सकता है। इस वजह से सऊदी अरब में भारी तेल संकट बना हुआ है। इसी के मद्देनज़र सऊदी अरब ने महत्वपूर्ण फ़ैसला लिया है।

पड़ोसी देश बहरीन तेल ले जाने वाली पाइप लाइन को बंद कर दिया गया है।मेहर समाचार एजेंसी ने रशिया टुडे के हवाले से रिपोर्ट दी है कि, सऊदी अरब की सबसे बड़ी ऑयल रिफ़ाइनरी अराम्को पर हुए ड्रोन हम’ले के बाद, सऊदी अरब में पैदा हुए भीषण तेल संकट के मद्देनज़र रियाज़ सरकार ने बहरीन जाने वाली तेल पाइप लाइन को बंद कर दिया है।

सऊदी अरब-बहरैन तेल पाइप लाइन द्वारा हर दिन 220 से 230 हज़ार बैरल कच्चा तेल सप्लाई होता है। रोएटर्ज़ के मुताबिक़, यमनी सेना और इस देश के स्वयंसेवी बलों द्वारा सऊदी अरब के हमलों के जवाब में किए गए ड्रोन हमले की वजह से सऊदी अब के कच्चे तेल की सप्लाई आधी से कम रह गई है। सऊदी अरब की तेल सप्लाई में आई कमी के कारण इस देश को गंभीर वित्तीय नुक़सान हो रहा है।

आपको बता दें कि 14 सितम्बर को सऊदी अरब की सबसे बड़ी तेल कंपनी आराम्को की दो रिफ़ाइनरियों पर यमन के अंसारुल्लाह आंदोलन ने दस ड्रोन विमानों से जवाबी हमला किया था जिसके बाद सऊदी अरब की सबसे बड़े ऑयल रिफ़ाइनरी में भीषण आग लग गयी थी। इस हमले की ज़िम्मेदारी हौथी विद्रोहियों ने ली है परन्तु सऊदी अरब और अमरीका का दावा है कि ये हमला ईरान ने किया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *