शर्त के चक्कर में जब किशोर कुमार ने खींची अनजान मुसाफ़िर की दाढ़ी..

किशोर कुमार के मस्तमौला अन्दाज़ से सभी वाक़िफ़ हैं। वो जहाँ भी होते वहाँ हँसी और खिलखिलाहट गूँजती रहती। वो कहीं बाहर जाते तो भी साथ के लोग उनके इस ख़ुशमिज़ाज अन्दाज़ से दो-चार होते। आज हम आपको एक ऐसा क़िस्सा बताने जा रहे हैं जिसे पढ़कर आप भी अपनी हँसी नहीं रोक पाएँगे। अपने एक शो के कारण किशोर कुमार टीम के साथ विदेश ट्रिप पर गए थे और जब वहाँ से लौट रहे थे तो फ़्लाइट लेट हो गयी। सभी को एयरपोर्ट पर इंतज़ार करना था।

इंतज़ार और किशोर कुमार एक साथ कभी हो ही नहीं सकते थे। किशोर कुमार का तो मन ही नहीं लगता था कि वो बैठकर चुपचाप समय बीता दें। बस यहाँ भी उनका ख़ुराफ़ाती दिमाग़ चलने लगा। हुआ यूँ कि दूर एक विदेशी आदमी बैठा था जिसकी लम्बी सी दाढ़ी थी। किशोर कुमार ने अपनी टीम से कहा कि जो भी उस आदमी से हाथ मिलाकर आएगा उसे मैं 10 डॉलर दूँगा।

सभी तैयार हो गए बोले ये कौन साई बड़ी बात है अभी मिला आएँगे। किशोर कुमार ने कहा लेकिन एक छोटी सी शर्त है..सबने पूछा कि शर्त क्या है? तो किशोर कुमार शरारत से मुस्कुराते हुए बोले बात करते हुए उस आदमी की दाढ़ी छूना पड़ेगा। सब सकते में आ गए बोले ऐसा तो हो ही नहीं सकता।

kishore kumar

इस पर किशोर कुमार ने कहा अगर मैं ऐसा कर आऊँ तो तुम सब मुझे 10-10 डॉलर दोगे। सबने कहा हाँ, लेकिन पिटेगा तो हम कुछ नहीं देंगे। बस किशोर कुमार चल पड़े उस आदमी की ओर और सभी दूर से देखने लगे। किशोर कुमार ने उस आदमी से हाथ मिलाया और बात करना शुरू कर दिया। बीच में अचानक किशोर कुमार ने उस आदमी को अपनी टीम की तरफ़ इशारा करके दिखाया और उस आदमी ने उन्हें भी हाथ हिलाकर हेलो कहा।

इधर सब के सब डर गए कि अब ये पिटेगा तो सारे पिटेंगे। सबको फँसा दिया। फिर भी सब भागने की तैयारी किए हुए किशोर कुमार को देखने लगे। किशोर कुमार उस आदमी से बात किए जा रहे थे और अचानक उससे हाथ मिलाने को हाथ आगे किया और तभी उसकी दाढ़ी पर हाथ फिराया और फिर उससे हाथ मिलाकर सबकी ओर आ गए। सभी उन्हें है’रान होकर देखने लगे, उन्हें समझ ही नहीं आ रहा था कि दाढ़ी भी छू ली और उस आदमी ने कुछ कहा भी नहीं ये हुआ कैसे।

kishore kumar

जब किशोर कुमार उनके पास पहुँचे तो सब पूछने लगे कि आख़िर ऐसा किए कैसे? लेकिन किशोर कुमार ने कहा कि मैं शर्त जीत चुका हूँ पहले पैसे निकालो। पैसा हारने के दुःख से ज़्यादा सभी को ये जानने की उत्सुकता थी कि आख़िर दाढ़ी छूने के बाद भी उस आदमी ने कुछ कहा क्यों नहीं। किशोर कुमार ने सबसे शर्त का पैसा लेने के बाद ये राज़ बताया।

किशोर कुमार मुस्कुराते हुए बोले मैंने बात करते हुए उसे कहा कि आपकी दाढ़ी बहुत अच्छी है ये स्टाइल मुझे पसंद आया और ये कहते हुए मैंने उसकी दाढ़ी छू ली। सब उनकी इस करामत के क़ायल हो गए। तो ऐसे थे मस्तमौला किशोर कुमार जो हर मौक़े में ख़ुशी को ढूँढ लाते थे।

About Arghwan Rabbhi

Arghwan Rabbhi is a researcher and journalist.

View all posts by Arghwan Rabbhi →

Leave a Reply

Your email address will not be published.