किसानों के भारत बंद के एलान का दिखा असर..

February 3, 2021 by No Comments

नई दिल्ली: केंद्र के नए कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली बॉर्डर पर किसानों का धरना-प्रदर्शन जारी है. इस बीच, किसान मोर्चा ने 6 फरवरी को देशभर में चक्का जाम का ऐलान किया है. किसान शनिवार 6 फरवरी को देशभर में दोपहर 12 बजे से 3 बजे तक चक्का जाम करेंगे. इससे पहले, किसान संगठनों ने कृषि कानूनों के खिलाफ विरोध जताते हुए राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की शहादत दिवस पर 30 जनवरी को दिनभर का उपवास रखा था.

किसानों के भारत बंद के ऐलान का असर रोहतक में भी दिखाई देने लगा है. मकडोली टोल प्लाज़ा पर चल रहे किसानों के धरने पर फैसला लिया गया कि 6 फरवरी को किसान संगठनों के आह्वान पर यहां पर भी चक्का जाम किया जाएगा और इसको लेकर तैयारियां भी शुरू कर दी गई हैं. किसानों का कहना है कि सरकार तीन कृषि कानूनों को लेकर बेशक जिद पर अड़ी हुई है, पर किसानों ने भी ठान लिया है कि जब तक यह काले कानून वापस नहीं होते तब तक संघर्ष जारी रहेगा. फिलहाल देशभर में 6 फरवरी को सांकेतिक चक्का जाम करने का फैसला लिया गया है.

इन कानूनों को लेकर किसानों की सरकार संग 11 दौर की वार्ता हो चुकी, मगर कोई नतीजा निकलकर सामने नहीं आया. कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर नए कृषि कानूनों को एक से डेढ़ साल तक स्थगित करने का प्रस्ताव दिया, लेकिन किसान न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) की गारंटी और इन कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग पर अडिग हैं.

पुलिस की तैयारियों को लेकर सोमवार से ही सोशल मीडिया पर कई तरह की फोटो विडियो चर्चा का विषय बनी हुई हैं। तैयारियों को लेकर तीखी प्रतिक्रयाएं भी आ रही हैं। जिसका दिल्ली पुलिस ने जवाब देते हुए साफ कह दिया है कि 26 जनवरी को जिस तरह से तय रूट एग्रीमेंट को तोड़कर लाल किले पर हिंसा के जरिए 400 पुलिसकर्मियों को जख्मी किया। उसे ध्यान में रखते हुए पुलिस 6 फरवरी को चक्का जाम और आने वाले समय के लिए सुरक्षा इंतजाम कर रही है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *