किसान नेता चौधरी पुष्पेंद्र सिंह ने भाजपा प्रवक्ता से कहा, आप किराएदार हैं और अगर आप मकान का नु’कसान करेंगे तो…

March 7, 2021 by No Comments

नई दिल्ली: केन्द्र सरकार पिछले साल सितंबर महीने में 3 नए कृषि वि’धेयक लाई थी, जिन पर राष्ट्रपति की मु’हर लगने के बाद वो अब कानून का रूप ले चुके हैं. लेकिन किसानों की तरफ से कृषि कानून के खि’लाफ आ’पत्ति जताई जा रही है. देश के किसानो के द्वारा दिल्ली की सीमाओं पर आन्दोलन करते हुए लगभग 100 दिन पूरे हो गए हैं. किसान नेताओं और सरकार के बीच ग्यारह दौर की बातचीत हो चुकी है लेकिन उस बातचीत पर कोई सहमति नही बन पाई. किसान कृषि तीनों कानूनों को र’द्द करने और न्यूनतम समर्थन मूल्य यानी कि एमएसपी पर का’नून बनाने की मांग कर रहे हैं. हालांकि सरकार की तरफ से किसान संघठनों को बातचीत का न्योता भी दिया गया.

आज तक पर एक चर्चा के दौरान किसान शक्ति संघ के अध्यक्ष चौधरी पुष्पेंद्र सिंह और भाजपा प्रवक्ता संजू वर्मा के बीच ब’हस हुई. जिसमें चौधरी पुष्पेंद्र सिंह ने संजू वर्मा को कहा कि “उनको उनकी भा’षा में ही जवाब देंगे. बीजेपी प्रवक्ता अ’भिमानी भाषा की भाषा बोल रहे हैं. तो वहीं किसान नेता चौधरी पुष्पेंद्र सिंह ने कहा कि भाजपा को किसानों ने सील बं’द लिफाफे में 300 से ज़्यादा सीटें दीं थी. लेकिन बीजेपी की सरकार किसानों के खि’लाफ काम कर रही है”. पुष्पेंद्र सिंह ने आगे कहा कि, “भाजपा बस एक ही भाषा समझती है वो है चुनाव की भाषा, जिसमें सीट बढ़ाओ, वोट बढ़ाओ, कुर्सी पर क’ब्ज़ा करो. लेकिन अब हमने ये भाषा उलटी कर दी है. जिसमें वोट घ’टाओ, तुम्हारी सीट घटाओ, आपसे गद्दी छी’नो”.

उन्होंने आगे कहा, “हमने आपको वोट देकर 300 सीटें देकर गद्दी पर बैठाया था. और आप हमारे ही खि’लाफ काम कर रहे हैं. आप मकान मा’लिक नहीं हैं, मकान मालिक हम हैं. आप किराएदार हैं और अगर आप मकान का नु’कसान करेंगे तो मकान आपसे खाली करवा लिया जाएगा. आप मालिक नहीं नौ’कर हैं. अगर आप काम नहीं करेंगे तो आपको नौकरी से हाथ धोना पड़ेगा”. शनिवार को कांग्रेस ने कहा कि किसान प्र’दर्शनकारियों के साथ मोदी सरकार ने जैसा व्यवहार किया है वह भारत के लोकतंत्र में “का’ला अध्याय” है। पार्टी ने इसे सत्ताधारी भाजपा के “अ’हंकार” के 100 दिनों के रूप में मनाया.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *