कांग्रेस-JDS सरकार ने फिर नहीं मानी राज्यपाल की बात..वोटिंग पर स्पीकर ने लिया ये फ़ैसला

भारत राजनीति

कर्नाटक विधानसभा की कार्यवाही 22 जुलाई तक के लिए स्थगित कर दी गयी है इसका अर्थ ये हुआ कि विश्वासमत पर वोटिंग सोमवार को होगी। इसके पहले भाजपा के वरिष्ठ नेता बी एस येदुरप्पा ने कटाक्ष करते हुए कहा इस कुशासन का आज अंत हो जाएगा और हम मुख्यमंत्री की आख़िरी भाषण को बहुत ध्यान से सुनेंगे।

मुख्यमंत्री कुमारास्वामी ने इसके पहले सदन की कार्रवाई के दौरान स्पीकर रमेश कुमार से कहा कहा कि राज्यपाल के निर्देश पर जो भी फ़ैसला लेना है उससे आप मुझे आज़ाद करें और विश्वासमत पर वोटिंग का फ़ैसला आप ही तय करें। ग़ौरतलब है कि राज्यपाल ने विश्वासमत के लिए जो आदेश मुख्यमंत्री को दिए थे उस पर फ़ैसला करने का अधिकार मुख्यमंत्री पर सौंप दिया था। राज्यपाल ने पहले कल तक ही विश्वासमत की कार्रवाई पूरी करने का निर्देश दिया था, लेकिन कार्रवाई आज तक के लिए टल गयी थी।

Governor- Vajubhai Vala

एक बार फिर राज्यपाल वाजुभाई वाला ने आज ये निर्देश दिया था कि सदन की कार्रवाई 1 बजकर 30 मिनट तक पूरी कर दी जाए, लेकिन सदन 3 बजे तक स्थगित हो गया था और उसके बाद जब कार्रवाई शुरू हुई तो राज्यपाल ने निर्देश दिया कि अब कार्रवाई शाम 6 बजे तक पूरी की ही जाए। लेकिन इन सारे निर्देशों के बाद भी सदन की कार्रवाई सोमवार तक के लिए स्थगित हो गयी है।

Speaker Ramesh Kumar

एक ओर कांग्रेस के विधायक श्रीमंत पाटिल जो मुंबई में अपना इलाज करवा रहे हैं उनके पास भी कर्नाटक पुलिस पहुँच गयी है और इस बात की पुष्टि की गयी कि उन्हें भाजपा ने अगवा नहीं किया था। भाजपा के नेता बी एस येदुरप्पा ने तो अपनी ओर से विश्वास जताया था कि ये सरकार गिर जाएगी। यहाँ तक कि कल येदुरप्पा और भाजपा के सभी विधायक विधानसभा में धरना देकर बैठे भी रहे थे। लेकिन अब सदन की कार्रवाई एक बार फिर टल गयी है। कर्नाटक का ये सियासी संकट कौन सा मोड़ लेगा इस बात के लिए सोमवार तक का इंतज़ार करना होगा। इस मुद्दे से जुड़ी अन्य ख़बरों के लिए पढ़ते रहिए भारत दुनिया..देश- विदेश की हर ज़रूरी ख़बर की अपडेट भारत दुनिया पर उपलब्ध है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *