कर्नाटक विधान सभा के स्पीकर रमेश कुमार ने सदन की कार्यवाही को 3 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया है। इसके पहले राज्यपाल ने मुख्यमंत्री कुमारस्वामी को ये आदेश दिया था कि आज दोपहर 1 बजकर 30 मिनट तक सदन में बहुमत सिद्ध करें जिसकी समय सीमा अब समाप्त हो गयी। पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सिद्दारमैया ने कहा कि अभी बीस से अधिक सदस्यों द्वारा अपना पक्ष रखना बाक़ी है इसलिए मुझे लगता है कि वोटिंग सोमवार से पहले नहीं हो सकेगी।

मुख्यमंत्री एच डी कुमारस्वामी ने सदन में चर्चा के दौरान कहा कि ये लोग कहते हैं कि मैंने सिर्फ़ दो तीन जिलों के लिए फ़ंड की व्यवस्था की है जबकि मैंने हर ज़िले के लिए फ़ंड की बराबर व्यवस्था की है। उन्होंने आगे कहा कि भाजपा के लोग कहते हैं रेवन्ना नींबू लेकर चलते हैं और भाजपा दावा करती है कि वो काला जादू करके सरकार बचा लेंगे लेकिन काला जादू से कहीं सरकार बचती है क्या?

vidhansabha

स्पीकर के आर रमेश कुमार ने कहा कि राज्यपाल ने आदेश मुख्यमंत्री को दिया है तो उस पर क्या फ़ैसला लेना है ये मुख्यमंत्री ही तय करेंगे। उन्होंने ये भी कहा कि विधायक श्रीमंत पाटिल जो मुंबई में अपना इलाज करवा रहे हैं उनके पास कर्नाटक पुलिस गयी थी। पुलिस को उन्होंने बयान दिया है कि वो इलाज के सिलसिले में मुंबई में हैं उन्हें भाजपा ने अगवा नहीं किया है।

साथ ही स्पीकर के आर रमेश कुमार ने आगे कहा कि जो लोग मेरे कैरैक्टर पर ऊँगली उठा रहे हैं वो पहले अपनी ज़िन्दगी देखें। उन्होंने कहा कि जो भी मुझे जानता है वो जानता है कि मैंने लाखो रूपये नहीं जमा करके रखे हुए हैं…मेरे पास पूरी ताक़त है कि मैं बिना किसी भेदभाव के अपनी ड्यूटी करूँ।

Speaker Ramesh Kumar

इस बीच कांग्रेस सांसद नासिर हुसैन ने कहा कि मुझे लगता है कि जिस तरह से राज्यपाल ने स्पीकर के काम में दखल दिया है उसके बाद कांग्रेस पार्टी को सुप्रीम कोर्ट जाना चाहिए. उन्होंने कहा कि राज्यपाल के पास इस तरह का कोई अधिकार नहीं है..रायपाल जानबूझकर सदन की कार्यवाई में दख़ल दे रहे हैं और एक पार्टी के एजेंट के तरीक़े से काम कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *