पश्चिम बंगाल में हुए विधानसभा चुनाव के नतीजे आज घोषित कर दिए गए हैं। इस नतीजे में यह साफ हो गया है कि राज्य में सत्ता हासिल करने के भारतीय जनता पार्टी द्वारा किए जा रहे दावे पूरी तरह से झूठे साबित हो चुके हैं। राज्य में एक बार फिर से तृणमूल कांग्रेस की सरकार ने दस्तक दी है।

ममता बनर्जी की पार्टी ने राज्य में बहुमत हासिल कर भाजपा को मुंह तोड़ जवाब दिया है। गौरतलब है कि पश्चिम बंगाल की सत्ता हासिल करने के लिए मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच साख को लेकर मुकाबला हो रहा था। भाजपा और तृणमूल कांग्रेस के बीच यूं तो पूरे राज्य में ही कड़ा मुकाबला देखने को मिला।

इस बार के विधानसभा चुनाव में नंदीग्राम विधानसभा सीट सबसे हाई प्रोफाइल सीट मानी जा रही थी। क्योंकि इस सीट पर भाजपा की तरफ से शुभेंदु अधिकारी को उतारा गया था। जो कि ममता बनर्जी की पार्टी छोड़कर भाजपा में शामिल हुए थे और दूसरी तरफ खुद शुभेंदु अधिकारी का सामना करने के लिए ममता बनर्जी चुनावी दंगल में उतरी थी।

आज नतीजों में ममता बनर्जी और शुभेंदु अधिकारी के बीच कड़ा मुकाबला चल रहा था शाम होते-होते ममता बनर्जी शुभेंदु अधिकारी से आगे चल रही थी लेकिन अचानक ही पासा पलट गया नंदीग्राम से भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार शुभेंदु अधिकारी की जीत की घोषणा कर दी गई है।

जिसकी जानकारी भाजपा नेता अमित मालवीय ने सोशल मीडिया पर ट्वीट कर दी है हालांकि इस घोषणा के बाद विवाद शुरू हो गया है और टीएमसी ने इस मामले में जवाबी ट्वीट करते हुए कहा है कि अभी मतगणना जारी है इस पर कोई क्या लगाए जाए बता दें कि इस खबर को लिखे जाने तक नंदीग्राम सीट पर नतीजे घोषित नहीं किए हैं।

आपको बता दें कि इससे पहले न्यूज एजेंसी एएनआई ने ममता बनर्जी के जीत की न्यूज दी थी। नंदीग्राम में पहले हार स्वीकार करने के बाद अब सीएम बनर्जी ने अदालत जाने का ऐलान किया है।

समाचार ऐजेंसी एएनआई के अनुसार, बनर्जी ने कहा ‘मैं जनादेश को स्वीकार करती हूं. लेकिन मैं न्यायालय जाऊंगी क्योंकि मुझे जानकारी है कि परिणामों की घोषणा के बाद कुछ हेरफेर की गई और मैं उसका खुलासा करूंगी।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.