जेल में चली गो’लि’यों की तड़’तड़ा’हट से थ’र्रा उठी बांदा जे’ल, बा’हुब’ली मुख्तार अंसारी को अब..

बांदा जिला जेल में बंदी सुबह ईद की खुशियां मना रहे थे, तभी अचानक जेल का सायरन गूंज उठा। बंदी रक्षक चौकन्ना हो गए और कैदी अपनी बैरकों के अंदर चले गए। कई कैदियों को खाना छोड़कर बैरक में भागना पड़ा। बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी और पंजाब आर्मरी लूटकांड के आरोपी व मुंबई के डी-2 गैंग के सुक्खा पाचा की बैरकों में कड़ा पहरा लगा दिया गया। सभी इस बात से हैरान थे कि आखिर हुआ क्या।

ये सब चित्रकूट जिले के रगौली जेल में हुई गैंगवार की घटना का असर था। शुक्रवार को जेल में बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी सहित तमाम बंदी ईद की खुशियां मना रहे थे। कुछ बंदी खाना खा रहे थे। इसी बीच जेल में अलार्म बज उठा। बंदी रक्षक अलर्ट मोड में आ गए। जेल प्रशासन ने आनन-फानन सभी बंदियों को उनकी बैरकों के अंदर कर दिया। एक-एक बंदी को बाहर निकालकर खाना दिया गया और फिर उन्हें बैरक पहुंचा दिया।

बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी सहित पंजाब आर्मरी लूट कांड के मास्टर माइंड व मुंबई की डी-2 गैंग के सुक्खा पाचा की बैरकों में बंदी रक्षकों का पहरा बढ़ा दिया गया। कारागार अधीक्षक प्रमोद तिवारी व डिप्टी जेलर वीरेश्वर सिंह ने जेल का भ्रमण कर जायजा लिया। ईद की खुशी में जेल प्रशासन द्वारा शाम को दिए जा रहे सामूहिक भोज को भी टाल दिया गया। सीसीटीवी से शातिर बंदियों पर निगरानी तेज कर दी।

बताया जा रहा कि चित्रकूट जेल में हुई गोलीबारी में मारे गए बंदी मेराजुद्दीन बाहुबली विधायक और गैंगस्टर मुख्तार अंसारी का गुर्गा रहा है। मेराजुद्दीन बनारस जेल से प्रशासनिक आधार पर चित्रकूट भेजा गया था। उधर, सभी बैरकों के बाहर सुरक्षा कर्मी तैनात कर दिए गए।

पहले गेट से लेकर जेल के मुख्य गेट तक त्रिस्तरीय बैरिकेडिंग की गई है। जेल बाउंड्री की निगरानी के लिए पिकेट ड्यूटी लगाई गई है। यह लगातार गश्त कर रही है। जेल प्रशासन की अनुमति के बिना किसी को भी अंदर आने-जाने की इजाजत नहीं है।

About Arghwan Rabbhi

Arghwan Rabbhi is a researcher and journalist.

View all posts by Arghwan Rabbhi →

Leave a Reply

Your email address will not be published.