सऊदी अरब भारत के इस राज्य में करेगा 60 अरब डॉलर का निवेश, अरामको की रिफ़ाइनरी…

November 2, 2019 by No Comments

नई दिल्ली: सऊदी अरब और भारत में वाणिज्य के रिश्ते बहुत अच्छे हैं लेकिन पिछले कुछ दिनों में ये रिश्ते और मज़बूत हुए हैं. जबसे सऊदी अरब की बड़ी कम्पनी अरामको ने भारत की रिलायंस के साथ निवेश सम्बन्धी समझौता किया है तब से ही माना जा रहा है दोनों देशों में और बेहतर रिश्ते हो जाएँगे. इस बारे में सऊदी अरब के वाणिज्य मंत्री माजिद बिन अब्दुल्ला अल कसाबी ने कहा है, कि जैसे ही भारत के द्वारा ज़मीन आवंटित कर दी जाएगी।

उन्होंने कहा,”महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट पर काम आरंभ कर दिया जाएगा।” सऊदी अरब के वाणिज्य मंत्री का कहना है कि जहां तक अवसरों का प्रश्न है, हमने अरामको से शुरुआत की है। इसने रिफाइनरी बनाने का निर्णय लिया है। और यह बहुत बड़ा निवेश है। यह एक प्रतिबद्धता है। हम भारत सरकार की तरफ से ज़मीन के चुनाव की प्रतीक्षा कर रहे हैं।”

सऊदी अरब के वाणिज्य मंत्री का कहना है कि, प्रधानमंत्री मोदी का कहना है कि प्रदेश में नई सरकार चुनी गई है, और उन्हें उम्मीद है कि ज़मीन बहुत जल्द आवंटित कर दी जाएगी। बता दें कि ईरान पर प्रतिबंध के बाद से तेल की आपूर्ति भारत के लिए चिंता का एक बहुत बड़ा कारण रहा है। लेकिन सऊदी अरब ने भारत को तेल की निर्बाध आपूर्ति का आश्वासन दिया है।

इसके लिए महाराष्ट्र में 60 अरब डॉलर की तेल रिफाइनरी पर कार्य करने के लिए सऊदी अरब की सरकारी कंपनी अरामको और भारतीय सार्वजनिक उपक्रम की तेल कंपनियों के बीच बड़े अनुबंध पर हस्ताक्षर किए गए हैं। सऊदी अरब ने भारत में बढ़ती आर्थिक संभावनाओं को देखते हुए पेट्रोकेमिकल, इंफ्रास्ट्रक्चर और माइनिंग समेत कई क्षेत्रों में निवेश की योजना बनाई है। सऊदी अरब के राजदूत डॉक्टर सऊद बिन मोहम्मद अल सती ने कहा है कि, “हम भारत के साथ लंबी साझेदारी करने के इच्छुक हैं।”

उन्होंने कहा कि दोनों देशों के बीच के इस कारोबारी समझौते की पृष्ठभूमि में अरामको ने भारत के ऊर्जा सेक्टर में 44 बिलियन डॉलर की वेस्ट कोस्ट रिफायनरी और महाराष्ट्र में पेट्रोकेमिकल्स प्रोजेक्ट पर निवेश की योजना बनाई है।ग़ौरतलब है कि सऊदी अरब भारत की ऊर्जा सुरक्षा का एक मजबूत स्तंभ है। भारत सऊदी अरब से अपनी ज़रूरत का 17 फ़ीसदी कच्चा तेल और 32 फ़ीसदी एलपीजी खरीदता है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *