इन इंडियन क्रिकेटर्स को सिर्फ़ एक ही मैच में मिला मौक़ा, शाहबाज़ नदीम का भी नाम शामिल..

January 13, 2021 by No Comments

हर किसी खिलाड़ी का सपना होता है कि वो देश के लिए खेले. भारत जैसे देश में जहाँ क्रिकेट को जैसे पूजा जाता है वहाँ तो क्रिकेट खिलाड़ी राष्ट्रीय टीम में जगह पाने के लिए हर संभव कोशिश करते हैं. हज़ारों क्रिकेटर्स अपने जौहर दिखाते रहते हैं लेकिन क्रिकेट टीम तो 11 की ही बन सकती है. कई बार ऐसा भी होता है कि खिलाड़ी को मौक़ा तो मिल जाता है लेकिन इक्का-दुक्का मौक़ों के बाद उसे बाहर कर दिया जाता है. आज हम ऐसे चार खिलाड़ियों के बारे में बताने जा रहे हैं जो भारतीय क्रिकेट टीम में जगह तो बना ले गए लेकिन इन्हें बस एक ही मैच खेलने का मौक़ा मिला.

इस फ़ेहरिस्त में सबसे पहला नाम फ़ैज़ फ़ज़ल का है. 2015-16 की देवधर ट्रॉफ़ी में शानदार प्रदर्शन करने वाले फ़ज़ल को भारतीय टीम के लिए खेलने का मौक़ा मिला. ज़िम्बाब्वे के ख़िलाफ़ उन्हें टीम में शामिल किया गया. इस वन-डे मैच में फ़ज़ल ने हाफ़ सेंचुरी लगा दी और लगा कि आगे के मैचों में उन्हें फिर मौक़ा मिलेगा. हालाँकि ऐसा नहीं हुआ और ये उनका आख़िरी मैच भी साबित हुआ. इस लिस्ट में दूसरा नाम है श्रीनाथ अरविन्द का.

2015 में दक्षिण अफ़्रीका के ख़िलाफ़ टी20 सीरीज़ में आनंद को मौक़ा दिया गया. उन्होंने 3.4 ओवर कराए और 44 रन दिए. उन्होंने एक विकेट भी लिया. हालाँकि वो गेंदबाज़ी कराते हुए महँगे साबित हुए फिर भी एक मैच के बाद उन्हें फिर मौक़ा दिया जा सकता था. टीम मैनेजमेंट ने लेकिन आनंद को दूसरा मौक़ा नहीं दिया. इस फ़ेहरिस्त में शाहबाज़ नदीम का नाम भी शामिल है.

2015-16 और 2016-17 रणजी ट्रोफ़ी में शानदार प्रदर्शन करने वाले शाहबाज़ नदीम को झारखण्ड क्रिकेट का सितारा माना जाता है. उन्होंने घरेलू क्रिकेट में 400 विकेट लिए हैं. उन्हें 2019 में दक्षिण अफ़्रीका के ख़िलाफ़ टेस्ट सीरीज़ में मौक़ा मिला. अपने एकमात्र टेस्ट में उन्होंने 4 विकेट लिए. इसके बाद उन्हें फिर मौक़ा नहीं मिला. हालाँकि वो घरेलू क्रिकेट में शानदार खेल दिखा रहे हैं और ऐसी संभावनाएँ प्रबल हैं कि उन्हें फिर एक बार मौक़ा मिले.

एक और नाम इस लिस्ट में हमने शामिल किया है राहुल चाहर का. उन्हें 2019 में वेस्ट इंडीज़ के ख़िलाफ़ टी20 मैच के लिए टीम में शामिल किया गया. राहुल ने मैच में अच्छा खेल दिखाया और 27 रन देकर एक विकेट लिया. हालाँकि इस सीरीज़ के बाद उन्हें दुबारा टीम में शामिल नहीं किया गया. जानकार मानते हैं कि वो अभी युवा हैं और दुबारा टीम में जगह बनाने का टाइम उनके पास है.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *