कर्णाटक में भाजपा सरकार के लिए मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं. कर्णाटक हाई कोर्ट के एक फ़ैसले के बाद से ही विपक्ष भाजपा सरकार के ख़िलाफ़ आक्रामक हो गया है. कांग्रेस पार्टी ने कर्णाटक के मौजूदा मुख्यमंत्री बीएस येदयुरप्पा को हटाने की माँग की है. कांग्रेस ने भाजपा से माँग की है कि येदयुरप्पा से इस्तीफा लिया जाए या उन्हें पद से हटा दिया जाए. कांग्रेस ने मुख्यमंत्री के ख़िलाफ़ जाँच के कर्णाटक हाईकोर्ट के फ़ैसले का हवाला दिया है.

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राजीव शुक्ला ने राजधानी दिल्ली में कहा कि येदियुरप्पा के खिलाफ जांच का आदेश दिया जाना चाहिए। शुक्ला ने बृहस्पतिवार को कहा कि येदियुरप्पा को तत्काल इस्तीफा देना चाहिए या फिर उन्हें पद से हटाया जाना चाहिए। संवाददाताओं से चर्चा में कांग्रेस नेता ने कहा कि उच्च न्यायालय ने जो आदेश दिया है, वो गंभीर विषय है। इस मामले में निष्पक्ष जांच तभी हो सकती है जब येदियुरप्पा मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा या फिर उन्हें हटाया जाए।

शुक्ला ने कहा कि कर्नाटक के ग्रामीण विकास मंत्री ईश्वरप्पा ने अपने विभाग के मामले में मुख्यमंत्री येदियुरप्पा पर हस्तक्षेप करने और भ्रष्टाचार का आरोप लगाया है। यह भी बहुत गंभीर मामला है। अगर भाजपा अपने इस मुख्यमंत्री के खिलाफ कदम नहीं उठाती है तो फिर भ्रष्टाचार पर बात करने का उसका नैतिक अधिकार ख़त्म हो जाएगा.

उल्लेखनीय है कि कर्नाटक हाईकोर्ट ने येदियुरप्पा के खिलाफ ‘ऑपरेशन कमल’ मामले में जांच को मंजूरी दी है। येदियुरप्पा पर आरोप है कि सरकार बनाने के लिए उन्होंने 2019 में जनता दल (एस) के एक विधायक के बेटे को कथित तौर पर पैसे और मंत्रालय का लालच दिया था। उधर, कर्नाटक के ग्रामीण विकास मंत्री के एस ईश्वरप्पा ने बुधवार को राज्यपाल से मुख्यमंत्री येदियुरप्पा के खिलाफ शिकायत की थी। उन्होंने मुख्यमंत्री पर उनके विभाग के मामलों में सीधा हस्तक्षेप करने का आरोप लगाया था।

By Arghwan Rabbhi

Arghwan Rabbhi is a researcher and journalist.

Leave a Reply

Your email address will not be published.