दक्षिण अफ़्रीका के मशहूर बल्लेबाज़ हाशिम अमला ने क्रिकेट को अलविदा कह दिया है. 15 साल के शानदार करीयर में उन्होंने कई बड़े रिकॉर्ड अपने नाम किये. अमला अच्छे बल्लेबाज़ होने के साथ-साथ शालीन और समझदार इंसान माने जाते हैं. उन्होंने अपने बयान में कहा है की सारी तारीफें अल्लाह के लिए हैं कि अल्लाह ने मुझे इतनी शानदार यात्रा प्रदान की. उन्होंने कहा कि मैंने इस सफ़र में बहुत सी बातें सीखी हैं..कई दोस्त बनाये हैं और भाईचारा साझा किया है.

अपने माँ-बाप का शुक्रिया अदा करते हुए अमला ने कहा कि मैं अपने माता-पिता को उनकी दुआओं, उनके प्यार और उनके समर्थन के लिए शुक्रिया कहना चाहता हूँ…ये उनका साया ही है जिसकी वजह से मैं दक्षिण अफ़्रीका की टीम के लिए इतने साल खेल पाया. उन्होंने आगे कहा कि मैं अपने परिवार, दोस्तों, और एजेंट, अपनी टीम के साथी और सप्रत स्टाफ़ के हर सदस्य का धन्यवाद करूँगा. उन्होंने कहा कि सभी का दिल से शुक्रिया.

उन्होंने अपने चाहने वालों का भी शुक्रिया कहा. उन्होंने कहा,”सियाबोंगा, लव एंड पीस”. हाशिम अमला ने अपने करीयर में कमाल की कामयाबी हासिल की है. उन्होंने कुल 349 मैच खेले हैं जिनमें उन्होंने 18,672 रन बनाये हैं और इस दौरान उन्होंने 55 सेंचुरी लगाएँ. इसके अतिरिक्त 88 से अधिक अर्द्ध-शतक लगाए हैं. उन्होंने अपने करीयर के दौरान कई ऐसे रिकॉर्ड बनाए हैं जिनको हासिल करना आने वाले दौर के बल्लेबाज़ों के लिए चुनौती भरा होगा.

वो दक्षिण अफ़्रीका के एकमात्र बल्लेबाज़ हैं जिन्होंने ट्रिपल सेंचुरी लगाई है. इसके अतिरिक्त उनके पास सबसे तेज़ 2000, 3000, 4000, 5000, 6000 और 7000 रन बनाने का भी रिकॉर्ड है. ऐसा पहले ही से माना जा रहा था की एकदिवसीय विश्व कप के बाद हाशिम अमला संन्यास ले लेंगे. आपको बता दें कि वर्ल्ड कप में दक्षिण अफ़्रीका का प्रदर्शन निराशाजनक रहा.

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.