किसान आन्दोलन के बाद संकट में आयी भाजपा सरकार के लिए अग्निपरीक्षा की घड़ी, वोटिंग में..

March 10, 2021 by No Comments

नई दिल्ली: कृषि कानून के खिलाफ किसान आन्दोलन जारी है. इसी बीच हरियाणा में सियासी संकट मंडराता हुआ नज़र आ रहा है. ऐसी में हरियाणा की गठबंधन सरकार के लिए मुश्किल समय है. हरियाणा की विपक्षी पार्टी कांग्रेस आज यानी बुधवार को विधानसभा में सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाएगी. कांग्रेस नए कृषि कानूनों के विरोध में प्रदेश की गठबंधन सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाई है।

विपक्ष की कांग्रेस पार्टी हरियाणा की गठबंधन सरकार के खिलाफ बुधवार को अविश्वास प्रस्ताव लेकर आएगी. बुधवार को पहले अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा होगी और उसके बाद वोटिंग की जायेगी. इसे लेकर भाजपा, जजपा और कांग्रेस ने अपने-अपने विधायकों को व्हिप जारी किया है। व्हिप में सभी दलों ने विधायकों को कार्यवाही चलने से खत्म होने तक सदन में रहने को कहा है। कांग्रेस नए कृषि कानूनों के विरोध में प्रदेश की गठबंधन सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाई है। सरकार के समर्थन में वोट करने के लिये भाजपा और जजपा ने अपने सभी विद्यालयों से आग्रह किया है.

बीजेपी की ओर से मुख्य सचेतक कंवर पाल, जजपा की ओर से मुख्य सचेतक अमरजीत ढांडा व कांग्रेस की तरफ से मुख्य सचेतक बीबी बत्रा ने व्हिप जारी किया है। भाजपा और जजपा ने अपने सभी विधायकों को सदन के विधायी कार्य पूरे होने तक सदन को नही छोड़ने की सलाह दी है. तो वहीं सरकार के पक्ष में वोट करने की अपील भी की है. 90 सदस्यों वाली विधानसभा में भाजपा के 40 विधायक हैं.

भाजपा को जेजेपी के 10 और पांच निर्दलीय विधायकों का भी समर्थन है. कांग्रेस के पास 31 विधायक हैं. बता दें कि अभी विधानसभा में 88 विधायक हैं. तो ऐसे में गठबंधन सरकार को बहुमत के लिए 45 का आंकड़ा चाहिए. वहीं हरियाणा की विपक्षी पार्टी कांग्रेस आज यानी बुधवार को विधानसभा में सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाएगी.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *