पहले तो इस राज्य में भाजपा ने हासिल की कामयाबी लेकिन अब सहयोगी पा’र्टी ने नहीं मानी बात…

एक तरफ़ कर्णाटक में तो सियासी ड्रामा चल ही रहा है दूसरी ओर गोवा में भी अब इसी तरह का माहौल बन रहा है. हालाँकि गोवा में सरकार के गिरने और बनने का चक्कर नहीं है लेकिन बात यहाँ गठबंधन बनने और टू’टने की ज़रूर है. गोवा के 10 कांग्रेसी विधायक अपनी पार्टी छोड़कर भाजपा में शामिल हो गए हैं. इसके बाद भाजपा के बहुमत से अधिक विधायक हो गए हैं.

यही वजह है कि अब भाजपा अपने छोटे सहयोगियों से छुटकारा पाना चाहती है. इस बीच गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने शुक्रवार के रोज़ अपने चार मंत्रियों से इस्ती’फ़ा माँग लिया है. जिन मंत्रियों से इ’स्तीफ़ा माँगा गया है उनमें से तीन गोवा फॉरवर्ड पार्टी के हैं जबकि एक विधायक निर्दलीय है. इनसे इस्तीफ़े तो माँगे गए हैं लेकिन इनमें से कोई भी इस्ती’फ़ा नहीं दे रहा है.

सीएम सावंत ने बताया,”मैंने गोवा फॉरवर्ड पार्टी के मंत्री विजय सरदेसाई, जयेश सलगांवकर और विनोद पालेकर और एक निर्दलीय विधायक को अपने पदों से इस्‍ती’फा देने को कहा है। मैं कैबिनेट में चार नए मंत्री जोड़ रहा हूँ।” मुख्‍यमंत्री सावंत की इस मांग पर गोवा फॉरवर्ड पार्टी के एक मंत्री ने भी ट्वीट कर दिया.

उन्होंने कहा,”हम एनडीए का हिस्‍सा है और बीजेपी के राष्‍ट्रीय नेताओं से बातचीत के बाद ही बीजेपी की अगुआई वाली राज्‍य सरकार का हिस्‍सा बने हैं। राज्‍य के मौजूदा बीजेपी नेता उस समय हुई बातचीत का हिस्‍सा नहीं थे।” दूसरी ट्वीट में उन्‍होंने लिखा है,”हम केंद्र के एनडीए नेतृत्‍व से बातचीत के बाद ही जरूरी कदम उठाएंगे। हमें बीजेपी के केंद्रीय नेृतृत्‍व से अभी तक कोई आधिकारिक सूचना नहीं मिली है। इसके विपरीत, हमें ऐसे संकेत मिले हैं कि यह मसला आपसी सहमति से सुलझा लिया जाएगा।”

About Arghwan Rabbhi

Arghwan Rabbhi is a researcher and journalist.

View all posts by Arghwan Rabbhi →

Leave a Reply

Your email address will not be published.