फ़्रांस और तुर्की के बिग’ड़ते संबंधों के बीच आया बड़ा बयान,’अगर फ़्रांस ने..’

December 19, 2020 by No Comments

तुर्की और फ़्रांस के बीच लम्बे समय से विवाद चल रहे हैं. हालत ये रही कि दोनों देशों के नेताओं के बीच ज़ुबानी जंग भी रही. फ़्रांस की ‘मुस्लिम विरोधी’ नीति को इसके लिए ज़िम्मेदार माना गया वहीँ लेबनान और ग्रीस जैसे देशों की सियासी मामलों में फ़्रांस का दख़ल देना भी तुर्की को नागवार गुज़रा था. अब ख़बर है कि दोनों देश दोस्ती का हाथ बढ़ाने के लिए तैयार हैं.

समाचार पोर्टल ‘डेली सबाह’ में छपी ख़बर के मुताबिक़ तुर्की के विदेस्श मंत्री मेव्लुत जवुसोग्लू ने जुमेरात के रोज़ कहा कि तुर्की फ़्रांस के साथ संबंधों को सुधार लेगा लेकिन फ़्रांस को सीरिया में चल रहे ऑपरेशन को लेकर तुर्की के प्रति अपना रवैया बदलना होगा.उन्होंने साथ ही कहा कि फ़्रांस को तुर्की के ख़िलाफ़ अपनी बयानबाज़ी पर लगाम लगानी होगी.

एक चैनल से बात करते हुए देश के विदेश मंत्री ने कहा कि इस सिलसिले में एक मीटिंग फ़्रांस की राजधानी पेरिस में हो सकती है. उन्होंने फ़्रांस के विदेश मंत्री जीन-यवेस ला द्रियन से कहा कि अगर आप दूसरे लोगों को एंटी-टर्की फ़ैसले लेने के लिए प्रोत्साहित करते रहेंगे तो हमें आपकी आलोचना करनी ही होगी. उन्होंने साथ ही कहा कि उनका फ़्रांस से कोई समस्या नहीं है लेकिन जब देश ग़लती करेगा तो उस पर तो रिएक्शन देना ही होगा.

आपको बता दें कि पिछले कुछ समय में तुर्की की ताक़त बढ़ी है. फ़्रांस भी अब क्षेत्र में ताक़तवर होना चाहता है लेकिन अभी तक उसे तुर्की के मुक़ाबले कम ही सफलता मिली है. साल 2020 में फ्रांस के राष्ट्रपति इम्मानुएल मक्रों ने कई ऐसे क़दम उठाये जिन्हें तुर्की विरोध का माना गया. ये साल मक्रों के विवादित बयानों के लिए भी जाना गया.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *