फ़िलिस्तीन विरोधी इज़राइली PM की मुश्कि’लों में इज़ाफ़ा, बड़े स्तर पर अब..

July 22, 2020 by No Comments

तेल अवीव: इज़राइल में यूँ तो किसी तरह बेन्यामिन नेतान्याहू प्रधानमंत्री बने रहने में कामयाब रहे हैं लेकिन उनकी मुश्किलें ख़त्म होने का नाम नहीं ले रही हैं. लिकुद पार्टी के नेतान्याहू ने धुर-विरोधी ब्लू एंड वाइट से समझौता कर लिया और प्रधानमंत्री एक बार फिर चुन लिए गए. इसके बाद भी उनके ऊपर लगे भ्रष्टाचार के आरोप उनका पीछा नहीं छोड़ रहे हैं. अब तो उनके ख़िलाफ़ क़ानूनी कार्यवाई भी शुरू हो चुकी है.

नेतान्याहू विरोधी कहते हैं कि वो इस केस को अपने हक़ में बदलने के लिए अनैतिक तरीक़ों का इस्तेमाल कर रहे हैं. फ़िलिस्तीन विरोधी छवि रखने वाले नेतान्याहू के बारे में मशहूर है कि जब भी ये किसी मामले में फँसते हैं तो ध्यान भटकाने के लिए फ़िलिस्तीन पर किसी तरह की कोई कार्यवाई कर देते हैं. इसके बाद इनके समर्थन वाला मीडिया इस बात को ही फेंटने लगता है. परन्तु अब नेतान्याहू के ख़िलाफ़ प्रदर्शन तेज़ हो रहे हैं.

असल में कोरोना वायरस के समय शुरू में तो इज़राइल ने केसेस पर कुछ कण्ट्रोल कर लिया लेकिन अब जिस तरह से कोरोना केसेस बढ़े हैं उसने सरकार की कलई खोल दी है. बेरोज़गारी भी लगातार बढ़ रही है. पिछले डेढ़ साल से राजनीतिक संकट झेल रहे देश में अपनी आन्तरिक समस्याओं से निकलने के लिए हल नहीं है. शायद यही वजह है कि नेतान्याहू ने फ़िलिस्तीनी ज़मीन को अवैध तरह से अपने में मिलाने की योजना बना दी है. इज़राइल में कट्टरपंथी गुटों को ख़ुश करने के लिए ही इस क़दम को उठाया जा रहा है. हालाँकि इस बार नेतान्याहू की मुश्किलें कम नहीं हो रहीं हैं बल्कि बढ़ रही हैं.

Tags: ,

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *