नई दिल्ली: कोरोना के बढ़ते क’हर के बीच गुरुवार को पश्चिम बंगाल का चुना’व पूरा हो गया। बंगाल में कुल 8 चरणों में चुनाव सम्पन्न हुआ। तो वहीं अन्य चार राज्यों तमिलनाडु, असम, केरल और पुडुचेरी में पहले ही चुनाव ख’त्म हो गए। इन पांच राज्यों के चुनावी नती’जों की घोष’णा 2 मई को होगी। इन सभी पांच राज्यों में से पश्चिम बंगाल और असम का चुनाव अहम माना जा रहा है।

इन दोनों राज्यो में राजनीतिक दलों के बीच कांटें की टक्कर है। ऐसे में किस पार्टी को सत्ता मिलेगी और किस पार्टी को हा’र मिलेगी यह 2 मई को नती’जे आने के बाद ही पता चलेगा।एनडीटीवी के एग्जिट पोल के मुताबिक, सबसे पहले बंगाल की करें तो यहां भारतीय जनता पार्टी और तृणमूल कांग्रेस एक दूसरे से कुछ सीटों के अंतर से आगे-पीछे हो सकती हैं।

एग्जिट पोल के अनुमान बताते हैं कि टीएमसी इस बार फिर सरकार बनाने में कामयाब होगी। बंगाल में ममता बनर्जी की पार्टी 294 सीटों में से 149 पर जीत दर्ज कर सकती है। तो वहीं बीजेपी 116 सीट पर जीत सकती है। एग्जिट पोल्स में बंगाल में वामदलों को 16 सीटें दी गई हैं। अधिकतर एग्जिट पोल्स में टीएमसी को आगे दिखाया गया है।

इन एग्जिट पोल्स के मुताबिक अगर ममता बनर्जी की पार्टी इस बार जीत जाती है तो यह ममता बनर्जी की हैट्रिक होगी। दक्षिण प्रदेश तमिलनाडु में यूपीए समर्थित पार्टी डीएमके ज़्यादा सीटों के साथ सरकार बनाती हुई नज़र आ रही है। एग्जिट पोल्स के अनुसार एमके स्टालिन की डीएमके और सहयोगी 234 में से कम से कम 171 सीट जीत सकते हैं।

एआईएडीएमके बहुमत से पी’छे रहती दिख रही है जबकि डीएमके की आराम से सरकार बनती हुई दिख रही है। जबकि मौजूदा समय में राज्य में सत्ता प्राप्त एआईएडीएमके और उसके सहयोगी 59 सीटों तक ही सि’मट सकते हैं. टीटीवी दिनाकरण की एएमएमके को दो सीटें मिलने का अनुमान है। केरल में लेफ्ट डेमोक्रेटिक फ्रंट की सरकार बनती दिख रही है।

पोल ऑफ एग्जिट पोल्स के अनुसार राज्य की 140 विधानसभा सीटों में एलडीएफ के खाते में 76 सीटें जा सकती हैं जो कि बहुमत के आंकड़े 71 सीटों से ज्यादा ही है। वहीं पुदुच्चेरी में 30 सीटों में एनआरसी और सहयोगियों को 18 सीटें मिल सकती हैं जबकि बहुमत का आंकड़ा 16 का है।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *