EVM के ख़िलाफ़ उद्धव सरकार का एक्शन प्लान, बैलेट पेपर से ही…

February 3, 2021 by No Comments

मुंबई: भारत में लम्बे समय से चुनावी प्रक्रिया को लेकर बहस होती रही है. कुछ राजनीतिक पार्टियों का मानना है कि EVM से बेहतर विकल्प बैलेट पेपर है. पिछले कुछ सालों में EVM के इस्तेमाल पर विपक्ष सवाल उठाता रहा है. भारत में वोट डा’लने के लिए EVM का इस्तेमाल सबसे पहले 1982 में हुआ था. साल 1982 में केरल की एक विधानसभा सीट पर उपचुनाव में मतदाताओं ने EVM में वोट डाले थे.

अब देशभर में जहां वोटिंग के लिए EVM का इस्तेमाल किया जाता है, वहीं महाराष्ट्र सरकार जल्द ही राज्य में बै’लेट पेपर से चुनाव कराने की तैयारियां कर रही है. EVM पर उठने वाले स’वालों को देखते हुए महाराष्ट्र सरकार जल्द ही बै’लेट पेपर से चु’नाव कराने के लिए कानून बना सकती है. महाराष्ट्र की उद्धव ठाकरे सरकार विधानसभा बजट सत्र में बैलेट पेपर से चु’नाव कराने के लिए कानून ला सकती है और इसके लिए ड्राफ्ट भी तैयार किया जा रहा है.

महाराष्ट्र विधानसभा अध्यक्ष नाना पटोले ने एक इंटरव्यू में बै’लेट पेपर के इस्तेमाल की पुष्टि भी की है. एक ख़बर के मुताबिक़ नाना पटोले ने महाराष्ट्र की उद्धव ठाकरे सरकार को राज्य में ईवीएम के साथ-साथ बैलेट पेपर से भी चु’नाव कराने के लिए ड्रा’फ्ट तैयार करने के लिए निर्देश दिए हैं. रिपोर्ट्स के मुताबिक यदि समय से ड्राफ्ट तैयार हो जाता है तो अगले महीने मार्च में विधानसभा के बजट सत्र में इसे पेश भी कर दिया जाएगा. विधानसभा में बिल पास होने के बाद महाराष्ट्र में होने वाले विधानसभा चुनाव और स्थानीय चुनाव बैलेट पेपर से कराए जा सकते हैं. बता दें कि लोकसभा चुनाव में ही ले सकती है.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *