UN में एरदोगन ने दुनिया के नेताओं को लगाई फ’टकार, इज़राइल के बॉ’र्डर को लेकर दिया बयान…

अरब दुनिया दुनिया

तुर्की के राष्ट्रपति रजब तैयब एरदोगन ने संयुक्त राष्ट्र की आम सभा में बोलते हुए कहा कि दुनिया को फ़िलिस्तीन के लोगों के साथ खड़ा होना चाहिए. उन्होंने 74वीं आम सभा में अपने भाषण में कहा कि इजराइल का बॉर्डर कहाँ है? क्या ये 1948 वाला बॉर्डर है, 1967 वाला या कोई और बॉर्डर है? न्यूयॉर्क में एरदोगन ने इजराइल की नीति को दमनकारी मानते हुए देश की सरकार की आलोचना की.

उन्होंने कहा कि अब दुनिया को बजाय प्रॉमिस करने के फिलिस्तीनियों के लिए कुछ करना भी चाहिए. उन्होंने सवाल किया कि गोलन हाइट्स और वेस्ट बैंक के सेटलमेंट को कैसे सीज़ किया जा सकता है. उन्होंने कहा कि ये सब दुनिया के सामने हो रहा है लेकिन कोई भी देखना नहीं चाहता. एरदोगन ने भरोसा जताया कि तुर्की हमेशा फ़िलिस्तीन के लोगों के साथ खड़ा है. आपको बता दें कि अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के सत्ता में आने के बाद से ही इजराइल और अमरीका के बीच पहले से भी अधिक घनिष्टता हो गई है.

ट्रम्प ने अमरीका की एम्बेसी को शिफ्ट करके जेरुसलम में कर दिया. पहले अमरीकी एम्बेसी तेल अवीव में थी. तेल अवीव को दुनिया इजराइल की राजधानी मानती है लेकिन इजराइल अपनी राजधानी जेरुसलम को मानता है. जेरुसलम इजराइल और फ़िलिस्तीन विवाद में बड़ा मसला है. जब अमरीका ने अपनी एम्बेसी शिफ्ट की थी तब राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की काफी आलोचना हुई थी. इजराइली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतान्याहू की नीतियां भी इस तरह की रहीं हैं जिन्हें दुनिया के कई देशों ने फ़िलिस्तीन के लोगों को दबाने की कोशिश माना है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *