बला’त्कार एक ऐसा शब्द है, जो कानों में पिघ’ले शीशे की तरह उत’र जाता है। हर देश में इस ज’घन्य अप’राध की अलग स’ज़ा है। भारत में भी इस जघ’न्य अपरा’ध के लिए क’ठोर सज़ा का प्राव’धान है। लेकिन अभी हम बात कर रहे हैं यूएई की। सूत्रों से प्राप्त ख़बर के अनुसार यूएई में ख़लीज टाइम्स से प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक, 3 फरवरी को एक 19 वर्षीय छात्र ने बंदू’क की नोक पर एक महि’ला पर्यटक के साथ ब’लात्कार की ज’घन्य घ’टना को अंजा’म दिया। बता दें कि म’हिला केन्या की नाग’रिक है 28 वर्षीय महि’ला पर्यटक पिछले साल, 9 दिसंबर को नौकरी के लिए यूएई आई थी।

घ’टना के दिन की बात करें तो घ’टना वाले दिन म’हिला को ऑफिस छो’ड़ने के बहाने से आ’रोपी युव’क उस महि’ला को एक निर्माणा’धीन इमारत में ले गया था। पीड़ि’ता के बयान के अनुसार दो और लोगों को आरो’पी यु’वक ने फोन करके बुलाया था। और बाद में बंदूक की नोक पर केन्याई म’हिला के साथ यु’वक ने बलात्का’र के अप’राध को अंजा;म दिया और रात को लगभग 11:40 बजे शहर लौ;टते समय आरोपी ने पी’ड़िता को कार से बाहर धक्का दे दिया था।

बाद में केन्याई महि’ला ने अपने साथ हुए इस अपरा’ध की शि’कायत अल रशीदिया पुलि’स स्टेश’न में दर्ज कराई। जिसके बाद तुरंत कार्र’वाई करते हुए यूएई पु’लिस ने आरो’पी को गिरफ़्तार कर लिया और अब दु’बई कोर्ट ऑफ फर्स्ट इंस्टेंस में आ’रोपी यु’वक को 6 महीने की जे’ल की सज़ा सुनाई गयी है। लेकिन आ’रोपी युव’क चाहे तो 15 दिन के अंदर फिर से अपील कर सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *