डोनाल्ड ट्रम्प की आख़िरी उम्मीद भी ख़त्म, सुप्रीम कोर्ट ने दिया…

December 12, 2020 by No Comments

अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की आख़िरी उम्मीद पर पानी फिर गया है. राष्ट्रपति ट्रम्प को ये झटका सुप्रीम कोर्ट से लगा है. अमेरिकी सुप्रीम कोर्ट ने ट्रंप के उस मुकदमे को खारिज कर दिया है जिसमें उन्होंने जो बाइडेन की जीत पर सवाल उठाते हुए टेक्सास में राष्ट्रपति चुनावों में धांधली के आरोप लगाए थे। आज तक पर छपी खबर के अनुसार, न्यूज एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक, कोर्ट ने अपने आदेश में कहा कि टेक्सास के पास जॉर्जिया, मिशिगन, पेंसिल्वेनिया और विस्कॉन्सिन के खिलाफ केस करने का कोई वाजिब आधार नहीं है।

मंगलवार को टेक्सास के रिपब्लिकन अटॉर्नी जनरल और ट्रंप के सहयोगी द्वारा मामला दायर किया गया था। इस मामले में रिपब्लिकन राष्ट्रपति ने बुधवार को हस्तक्षेप करने का एक प्रस्ताव दायर किया। जज सैमुअल अलिटो और जज क्लेरेंस थॉमस ने कहा कि उन्होंने टेक्सास पर मुकदमा चलाने की अनुमति दी जरूर थी लेकिन चार राज्यों को अपने चुनाव परिणामों को अंतिम रूप देने से नहीं रोका गया था।

इस मसले पर व्हाइट हाउस की ओर से तत्काल कोई प्रतिक्रिया नहीं आने पर बाइडेन के एक प्रवक्ता ने कहा कि यह कोई आश्चर्य की बात नहीं है कि उच्च न्यायालय ने ट्रंप के आधारहीन प्रयासों को खारिज कर दिया है। डेमोक्रेट के पेंसिल्वेनिया अटॉर्नी जनरल जोश शापिरो ने ट्वीट के जरिए कहा कि हमारे देश की सर्वोच्च अदालत ने इस मामले के जरिए देखा कि कैसे चुनावी प्रक्रिया का देशद्रोही दुरुपयोग के तौर पर इस्तेमाल करने की कोशिश की गई।

उन्होंने कहा कि ट्रंप ने झूठा दावा किया है कि उन्होंने चुनाव जीता और चुनाव में धंधली के निराधार आरोप लगाए हैं। बता दें कि अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव के फाइनल नतीजे घोषित कर दिए गए हैं। डेमोक्रेट उम्मीदवार और निर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडेन को 306 इलेक्टोरल वोट पाने का अनुमान है। वहीं, राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के खाते में 232 वोट आए हैं। राष्ट्रपति चुनाव जीतने के लिए 538 में से 270 इलेक्टोरल वोट की जरूरत होती है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *