क्राउन प्रिंस के कार्यकाल में सऊदी अरब को मिली एक और बड़ी कामयाबी..

September 2, 2020 by No Comments

कोरोना महामारी के बीच सऊदी अरब के लिए एक बड़ी ख़बर आ रही है. ख़बर है कि सऊदी अरब को एक बड़ा ख़ज़ाना मिला है. तेल कंपनी अरामको ने बताया है कि देश के उत्तरी भाग में दो नए तेल-गैस भण्डार खोजे गए हैं. ये जानकारी सऊदी अरब की आधिकारिक प्रेस एजेंसी SPA के ज़रिए ये जानकारी दी है. अल-जउफ विस्तार में स्थित गैस भंडार को हदबत अल-हजरा गैस फील्ड और उत्तरी सीमाई विस्तार के तेल भंडार को अबराक अल-तालुल नाम दिया है।

प्रिन्स अब्दुल अजीज ने प्रेस एजेन्सी एसपीए के साथ बातचीत करते हुए जानकारी दी कि हदबत अल-हजीरा फिल्ड के अल सरारा रिज़रवॉयर से 16 मिलियन क्युबिक फुट प्रतिदिन के दर से प्राकृतिक गैस निकाला है और इसके साथ 1944 बैरल कन्डेन्सेट्स भी निकाला है। उन्होंने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा था कि “तुर्की के फ़तेह नामक ड्रिलिंग जहाज़ ने 320 अरब क्यूबिक मीटर प्राकृतिक गैस भं’डार टूना-1 कुएं में पाया है। हमारा लक्ष्य का’ले सागर से गैस निकालकर 2023 तक इसके इस्तेमाल करने का है।”

अब सऊदी अरब ने भी तेल और गैस के दो नए भं’डार ढूंढ़ लिए हैं। जिसमें से एक गैस फ़ील्ड अल-जॉफ इलाक़े में मिली है, जिसका नाम हदबत अल-हजरा रखा गया है। वहीं एक तेल और गैस फ़ील्ड उत्तर के सीमाई इलाक़े में मिली है, जिसे अबरक़ अल-तुलूल नाम दिया गया है. न्यूज़ चैनल ने जानकारी देते हुए कहा कि गैस फील्ड हदबत अल-हजरा से हर रोज़ 16 मिलियन क्यूबिक फ़ीट गैस और 1,944 बैरल कंडेनसेट पैदा हो सकता है। इसके अलावा अबरक़ अल-तुलूल से प्रतिदिन 3,189 बैरल अरब सुपर लाइट क्रूड और 1.1 मीलियन क्यूबिक फ़ीट गैस का उत्पादन किया जा सकता है।

इतना ही नहीं बल्कि एक अन्य फील्ड से हर दिन 2.4 मीलियन क्यूबिक फ़ीट गैस और 49 बैरल कंडेनसेट निकाला जा सकता है। सऊदी अरब के प्रिंस ने इन खो’जों पर खुदा का शुक्र अदा किया है और कहा है कि “सऊदी अरामको दोनों फ़ील्ड का आकलन करना जारी रखेगी और उनसे निकलने वाले गैस और तेल की मात्रा निर्धा’रित करने के लिए कुएं खोदेगी।”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *