क्राउन प्रिंस के फ़ैसले ने सऊदी अरब का किया इतना बड़ा फ़ायदा, कंपनी के..

दुनिया की सबसे बड़ी कम्पनियों में से एक सऊदी अरब की सऊदी अरामको का आईपीओ बाज़ार में आ गया है. इस आईपीओ को निवेशकों ने हाथों हाथ लिया है. क्राउन प्रिंस मुहम्मद बिन सलमान के लिए ये एक बड़ी कामयाबी के तौर पर देखा जा रहा है. दो सूत्रों ने बताया कि कंपनी ने अपने मूल्य दायरा के ऊपरी स्तर पर 25.6 अरब डॉलर जुटाए हैं। न्यूज़ स्टेट पर छपी खबर के अनुसार, रियाद स्टॉक एक्सचेंज में अरामको के शेयर 32 रियाल के शुरुआती मूल्य पर बेचे जाएंगे। इस हिसाब से कंपनी का मूल्यांकन 1,700 अरब डॉलर बैठता है।

इससे यह अब तक की सबसे बड़ी कंपनी हो गई है। इससे पहले चीन की आनलाइन ट्रेडिंग कंपनी अलीबाबा ने 2014 में 25 अरब डॉलर जुटाए थे। उस समय अलीबाबा वॉल स्ट्रीट में उतरी थी। शुरुआती कारोबार में शुक्रवार को शेयर बाजारों में मिलाजुला रुख देखा गया। सेंसेक्स और निफ्टी शुरू में सकारात्मक रुख के साथ चढ़कर खुले, लेकिन सुबह के कारोबार में इनमें गिरावट का रुख जारी है।

इसकी प्रमुख वजह निवेशकों का घरेलू संकेतों से आगे बढ़कर सकारात्मक वैश्विक धारणा को देखना है। निवेशकों को अमेरिका-चीन के बीच व्यापार समझौते को लेकर नए संकेतों का इंतजार है। वहीं रिजर्व बैंक के नीतिगत दर को 5.15 प्रतिशत पर अपरिवर्तित रखने से भी बाजार प्रभावित हुआ है। बृहस्पतिवार को रिजर्व बैंक ने ना सिर्फ नीतिगत दर को अपरिवर्तित रखा बल्कि भविष्य में भी अपना रुख उदार बनाए रखने की बात कही। बीएसई (BSE) का सेंसेक्स 103.13 अंक चढ़कर 40,882.72 अंक पर खुला, लेकिन 10 बजकर 40 मिनट पर इसमें 40,787.98 अंक पर कारोबार चल रहा है।

बृहस्पतिवार को यह 47,779.59 अंक पर बंद हुआ था। इसी तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 22.50 अंक बढ़कर 12,040.90 अंक पर खुला, लेकिन 10 बजकर 45 मिनट पर इसमें 12,016.05 अंक पर कारोबार हो रहा है। यह पिछले बंद 12,018.40 अंक से नीचे है। वहीं अंतरबैंक मुद्रा बाजार में डॉलर के मुकाबले रुपया भी पूर्वस्तर के आसपास ही बना हुआ है।

About Arghwan Rabbhi

Arghwan Rabbhi is a researcher and journalist.

View all posts by Arghwan Rabbhi →

Leave a Reply

Your email address will not be published.