सीपीएम ने आज एक बयान जारी कर ये घोषणा की कि उत्तर प्रदेश में वो सपा-बसपा-रालोद के महागठबंधन को समर्थन करेगी. राज्य कमिटी ने एक सन्देश जारी करते हुए कहा,” उत्तर प्रदेश में हमारी पार्टी लोकसभा के किसी भी क्षेत्र से चुनाव नहीं लड़ रही है। इसके पीछे उद्देश्य यही है कि प्रदेश में भाजपा विरोधी मतों का बंटवारा न होने दिया जाय। भाजपा सरकार की घोर जनविरोधी और साम्प्रदायिक नीतियों से असंतुष्ट प्रदेश की जनता की मांग भी यही है। इसलिए उत्तर प्रदेश में राज्य कमेटी ने चुनाव न लड़ने और चुनाव में भाजपा तथा उसके गठबंधन को पराजित करने के लिए काम करने का फैसला लिया है।”

इसमें आगे कहा गया है,” उत्तर प्रदेश में आमतौर पर सपा-बसपा गठबंधन भाजपा के खिलाफ मजबूत ताकत के रूप में उभरा है। इसीलिए हमारी पार्टी इस गठबंधन का समर्थन कर रही है। यदि कहीं किसी सीट पर कोई अन्य दल की सीधी टक्कर भाजपा से दिखेगी तो पार्टी उस पर भी विचार करेगी।”

विज्ञप्ति में पार्टी ने कहा,” प्रथम दो चरण में पार्टी की यह समझ सही साबित हुई । पार्टी आगे के चरण में भी इस समझ को जारी रखेगी । पिछले दो चरण में भाजपा को महागठबंधन ने मजबूती से रोका है जिसमे समाज की तमाम वाम , प्रगतिशील , जनवादी आंदोलन और सामाजिक आंदोलन ने भी पूरी भूमिका अदा की है । माकपा राज्य कमेटी प्रदेश की जनता से भाजपा के खिलाफ पुरजोर मतदान की अपील करती है ।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *