कोरो’ना सं’क्रमण के कार’ण मक्का में लागू हुए कड़े नियम, हज के लिए..

July 27, 2020 by No Comments

सऊदी अरब: कोरो’ना वाय’रस के बढ़ते सं’क्रमण के कार’ण दुनियाभर के लगभग सभी देशों में लॉ’क डा’उन लगा दिया था। जिसके चलते सभी गतिविधियों पर रोक लगा दी थी। इसी बीच सऊदी अरब ने इस साल की हज यात्रा को रद्द करने की भी बात कही थी, लेकिन बाद में गाइडलाइंस जारी करते हुए सरकार ने हज यात्रा के लिए अनुमति दे दी थी। सरकार ने गाइडलाइंस जारी करते हुए कहा था कि इस साल सऊदी अरब में रहने वालों को ही हज ही अनुमति होगी। हर साल पूरी दुनिया से लगभग 25 लाख लोग हज करने के लिए सऊदी अरब आते हैं। हज के दौरान यह लोग पांच दिन के लिए मक्का में इकट्ठा होते हैं।

इस साल की हज यात्रा पर सऊदी अरब के हज मंत्रालय ने कहा है कि इस साल सऊदी में रहने वालों को ही हज करने की अनुमति दी जाएगी। जिसमें से एक तिहाई लोगों सऊदी के निवासी होंगे और बाकी सऊदी में रहने वाले विदेशी नागरिक। वहीं अब बुधवार से मक्का में यात्रियों का आना भी शुरू हो गया है। आपको बता दें कि इस साल हज पर जाने वाले सभी यात्रियों का खर्चा सऊदी अरब सरकार उठा रही है। होटल में रहने से लेकर खाने तक की सुविधा सऊदी अरब सरकार ही उपलब्ध करा रही है। सऊदी अरब में पढ़ने वाली 25 साल की मलेशियाई युवती फातिन दाउद ऐसे ही चुनिंदा लोगों में से हैं, जिन्हें इस साल हज करने का मौका मिला है।

हज के लिए चुने जाने के बाद सऊदी स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा युवती की जांच की गई थी, साथ ही उनकी गतिविधियों पर नजर रखने के लिए उन्हें एक ब्रेसले’ट भी दिया गया था। इसके साथ ही उन्हें घर ही पर क्वारंटाइन रहने की सलाह भी दी गई थी। वहीं मक्का पहुंचने के बाद से ही उन्हें होटल में सेल्फ आइसोलेशन में रहना पड़ रहा है। सरकार एक दिन में तीन वक़्त का खाना उन तक पहुंचा देती है। बता दें कि पिछले 90 सालों में सऊदी अरब में एक भी हज यात्रा रद्द नहीं की गई है, लेकिन इस साल सं’क्रमण के कार’ण हज यात्रा पर काफी प्रभाव पड़ रहा है। यहां इस वाय’रस से सं’क्रमितों की संख्या 2 लाख 66 हजार का आंकड़ा पार कर चुकी है, वहीं 2,733 लोग इस वाय’रस से अपनी जान गंवा बैठे हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *