कोरो’ना की ल’ड़ाई में मिलेगी कामयाबी, भारतीय कंपनी सिप्ला ने की..

July 10, 2020 by No Comments

कोरो’ना वा’य’रस तेज़ी से दुनिया भर में फैल रहा है। वहीं दुनिया के कई हिस्सों में इस जानलेवा वा’य’रस की वैक्सीन बनाने का काम चल रहा है लेकिन अभी तक किसी को भी इस मामले में कामयाबी नहीं मिल पाई है। इसी बीच भारत की एक कंपनी ने भी कोरो’ना वा’य’रस की वैक्सीन बनाने का दावा किया था। साथ ही उसके ह्यूमन ट्रा’यल की अनुमति भी मिल गई थी। लेकिन एथिक्स कमेटी द्वारा मंजूरी ना मिलने पर वैक्सीन कहीं पहुंच नहीं सकी है। इसीलिए दवा का इंसानों पर परीक्षण नहीं हो पाया था। वहीं अब कोरो’ना वा’य’रस का सं’क्र’मण रोकने के लिए भारतीय कंपनी अमेरिकी दवा को बाज़ार में ला रही है।

खबरों के अनुसार, इस अमेरिकी दवा का नाम रेमेडेसिविर है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि यह दवा का जेनेरिक वर्जन है और भारतीय कंपनी सिप्ला इसका नया वर्जन तैयार कर रही है। इस दवा को अमेरिकी रेगुलेटर यूनाइटेड स्टेट्स फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (यूएसएफडीए) ने अनुमति भी दे दी थी कि ज़रूरत पड़ने पर इस दवा का इस्तेमाल कोरो’ना वा’य’रस के मरीजों के लिए किया जा सकता है। इस बीच भारतीय कंपनी द्वारा इस दवा को बाज़ार में उतार दिया गया है और इसकी कीमत भी काफी कम बताई जा रही है। सिप्ला के अनुसार इस दवा की 100 mg शीशी की कीमत 4,000 रुपए है।

Corona Vaccine


कंपनी ने पहले ही चर’ण में 80,000 से अधिक दवाइयों का लक्ष्य तय किया था। दवा की कीमतों को लेकर कंपनी ने कहा था कि इस दवा का दाम कम रखा जाएगा। ताकि आम आदमी भी इस दवा को आसानी से खरीद सके। सिप्ला ने कहा था कि 10 मिलीग्राम शीशी की कीमत 5,000 रुपये से कम रखी जाएगी। वहीं कंपनी के सीईओ और वीपी निखिल चोपड़ा ने बयान दिया है कि “हमें आज सिप्रेमी को कमर्शियल रूप से लॉन्च करने पर गर्व है। ग्लोबल लेवल पर इसकी कीमत काफी कम है।”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *