कोरो’ना रो’कने के लिए CM योगी का क’ड़ा फ़ै’सला, लॉ’कडा’उन में ख़लल डा’ला तो..

देश में कोरो’नावा’यरस के ब’ढ़ते प्र’कोप को देखते हुए उत्तर प्रदेश में योगी सरकार ने राजधानी के साथ-साथ 15 जिलों को पूरी हॉटस्पॉट घोषित करके पूरी तरीके से सी’ल कर दिया गया है। 10 अप्रैल से सुबह 9:30 बजे से लेकर 6:00 बजे तक शहर में वाहनों पर पूरी तरीके से प्रति’बंध लग जाएगा। सरकारी कर्मचारियों को अपने कार्यालय पहुंचने के लिए हर हा’लत में 9:30 बजे उपस्थिति दर्ज करवा’नी होंगी।

इसके साथ,पुलिस कमिश्नर सुजीत पांडेय के मुताबिक इस दौरान पुलिस, स्वा’स्थ्य विभाग, नगर निगम, जिला प्रशासन बिज’ली वि’भाग के कर्मचारियों पर ये प्रतिबं’ध मान्य नहीं होगा। बता दें कि दुकानों को खोलने के लिए पुलि’स प्र’शासन से अनुमति लेनी होगी और समय के साथ ही पूरी तरीक़े से नियम के तहत ही दुकानें खुलेंगीं। जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश के मुताबिक आवश्यक सेवाओं से सम्बं’धित लोग जिन्हें ड्यूटी पास निर्गत किए गए हैं उन्हें उनके पास गले मे लट’काने अथवा गाड़ी के चस्पा करने को कहा गया है, जिससे उन्हें दूर से ही देखा जा सके।

इसके अलावा पासधारकों को बेवजह टह’लता पाया गया तो उनके पास नि’रस्त किए जाएंगे। पुलिस कमिश्नर सुजीत पांडेय ने ऐसे लोगों के ख़ि’लाफ़ एफआई’आर दर्ज किया जाएगा। जानकारी के लिए आपको बता दे कि,लखनऊ में डॉक्टर नाज़िया के घर के आसपास का इलाका विजय खंड, कैफ़ अली आब्दी के घर के आसपास का इला’क़ा इंदिरानगर, डॉक्टर तौसीफ हैदर के घर के आसपास का इलाका अलीना एंक्लेव खुर्रम नगर और यश ठाकुर के घर के आसपास का इलाका विशालखण्ड आंशिक रूप से सील।

जबकि मस्जि;द अलीजान, सदर, मोहम्मदी म’स्जिद अस्तबल, चारबाग, फूलबाग मस्जि’द ,कैसरबाग, मोहम्मदिया मस्जि’द, मुजम्मिल नगर सहादतगंज, लाल म’स्जिद, आलमनगर तालकटोरा, नजरबाग म’स्जिद, कैसरबाग, खजूर वाली मस्जि’द, त्रिवेणी नगर, अली हयात म’स्जिद फैजुल्लागंज मड़ियाव और रजौली मस्जि’द, गुडंबा शामिल हैं। प्रदेश में कोरो’ना वायर’स के 31 नए केस सामने आए हैं। सबसे ज्यादा 19 केस आगरा में मिले।

ऐसे में लॉ’कडाउन का स’ख्ती से पालन करवाया जा रहा है। इसका उल्लंघन करने वालों पर सख्त कार्रवाई की जा रही है। प्रदेश के अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने बताया कि लॉ’कडाउ’न का उल्लंघन करने पर अब तक 12236 एफ’आईआर दर्ज की गई हैं और 31,216 लोगों को गिरफ़्ता’र किया गया है। वहीं, फर्जी खबर फैलाने पर अब तक 78 एफआईआर दर्ज की जा चुकी हैं।

About Arghwan Rabbhi

Arghwan Rabbhi is a researcher and journalist.

View all posts by Arghwan Rabbhi →

Leave a Reply

Your email address will not be published.