कोरोना को लेकर सऊदी अरब उठा सकता है बड़ा क़दम, क्राउन प्रिंस ने लिया..

July 23, 2020 by No Comments

रियाद: सऊदी अरब की अर्थव्यवस्था का बड़ा हिस्सा कच्चे तेल पर निर्भर है लेकिन कोरोना वायरस संकट की वजह से बाज़ारों पर बुरा असर पड़ा है. यही वजह है कि कच्चे तेल की माँग भी बेहद कम हो गई है. इसके अतिरिक्त तेल को लेकर चल रही खींचतान भी है जिसकी वजह से तेल के दाम बुरी तरह गिरे. अपनी अर्थव्यवस्था का सऊदी अरब पिछले कुछ सालों में विस्तार कर रहा है और उम्मीद की जा रही है कि जल्द ही ये कार्यक्रम कामयाब हो जाएगा.

हालाँकि कोरोना वायरस के संकट से निबटने के लिए सऊदी सरकार ने कुछ कड़े क़दम उठाये हैं. सऊदी सरकार कुछ आर्थिक संपत्तियों को बेचना भी चाहती है. ऐसी संपत्तियां जिनसे कोई लाभ राज्य को प्राप्त नहीं होता उनको बेचने की बात देश में चल रही है. ऐसी भी संभावना है कि सऊदी सरकार आयकर लगा सकती है. एक तो सरकार पश्चिमी देशों की तर्ज़ पर इस टैक्स को बहुत दिन से लागू करना भी चाहती थी दूसरा कोरोना वायरस की वजह से सरकार इस ओर तेज़ी से काम करने लगी.
salman
सऊदी अरब के वित्त मंत्री मोहम्मद अल-जादान ने कहा कि सरकार ने अगले 4 से 5 सालों में एजुकेशन, हेल्थकेयर और वॉटर सेक्टर में संपत्तियों के निजीकरण के जरिए 13.3 अरब डॉलर की रकम जुटाने का लक्ष्य रखा है। ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के मुताबिक जादान ने कहा कि सरकार वित्तीय स्थिति को सुधारने के लिए हरसंभव प्रयास कर रही है। कोरोना के संकट से निपटने में अभी दुनिया को वक्त लगने वाला है। ऐसे में सऊदी किंगडम इनकम टैक्स के जरिए कुछ फाइनेंस जुटा सकता है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *