हाल ही में संपन्न हुए लोकसभा चु’नाव में भाजपा को ‘बम्पर जी’त मिली जबकि कांग्रेस को त’माम कोशि’शों के बा’द भी हा’र नसी’ब हुई. इसके बाद कांग्रेस के तत्कालीन अध्यक्ष राहुल गांधी ने हा’र की ज़िम्मेदा’री ली और अपने पद से इ’स्तीफ़ा दे दिया. इसको लेकर ल’म्बे समय तक चर्चाएँ भी चलीं. बताया जा रहा है कि कांग्रेस बीजेपी की इस जी’त से अभी तक का स’क’ते में है और अंदर ही अंदर पार्टी का’फी क’मजो’र हो चली है। लेकिन अब कांग्रेस के लिए एक ब’ड़ी खबर साम’ने आ रही है।

हाल ही में उत्तराखंड में निकाय चुना’व हुए. इन निकाय चु’नाव के नती’जों में कांग्रेस पार्टी ने शान’दार जी’त हासिल की है. वहीं भारतीय जनता पार्टी के हाथों हा’र लगने की व’जह से बीजेपी स’कते में आ गई है। इस चुना’व के नतीजों ने एक बार फिर कांग्रेस के हौसले बुलं’द कर दिए। सूत्रों के मुताबिक मिली खबर के मुताबिक इस चु’नाव में ई’वी’एम की जगह बैले’ट पेपर से चुना’व करवाए गए थे। जिसमें कांग्रेस की जी’त हुई है।

अब यह सवाल खड़ा होता है कि अगर उत्तराखंड में हुए निकाय चु’नावों में बै’लेट पेपर से वोटिंग कर’वाई गई और कांग्रेस को इतनी ब’ड़ी जी’त मिली है तो क्या अगर लोकसभा चुना’व में भी बै’लेट पेपर का इस्तेमाल किया जाता तो कांग्रेस को जी त हासिल होती। गौरतलब है कि लोकसभा चु’नाव 2019 में भारतीय जनता पार्टी को मिली प्रचंड जी त के बाद विपक्षी पार्टी के नेताओं ने ई’वी’एम में ग’ड़ब’ड़ी होने का मा’मला उठाया था और बीजेपी की जी’त पर सवाल ख’ड़े किए थे।

माना जा रहा है कि उत्तराखंड में हुए निकाय चु’नाव में हुई ची’ज से कांग्रेस को एक नया बू’स्ट मिला है। इस चुना’व में हुई जी’त कांग्रेस पार्टी के लिए संजीवनी से क’म नहीं मानी जा सकती। आपको बता दें कि उत्तराखंड में दो जगहों पर निकाय चुना’व हुए थे और दोनों सीटों पर कांग्रेस ने अपना क’ब्जा ज’मा लिया है। इस जी’त से उत्तराखंड कांग्रेस के बड़े नेताओं में उ’त्सा’ह का मा’हौ’ल है। बताया जा रहा है कि पार्टी के बड़े नेताओं से लेकर कांग्रेस कार्यकर्ताओं में भी खु’शी का मा’हौ’ल है। वहीँ बीजेपी खे’मे के नेताओं के मुं’ह पर हा’र का दुः’ख देखा जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *