लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को ज़बरदस्त हार का सामना करना पड़ा लेकिन एक रिपोर्ट ऐसी जारी हुई है जिसमें दावा किया जा रहा है कि कांग्रेस को इस बात का यक़ीन था कि उनकी पार्टी चुनाव जीत रही है. इतना ही नहीं रिपोर्ट में तो ये भी दावा किया गया है कि कांग्रेस ने मंत्रालय को लेकर भी कुछ फ़ैसले ले लिए थे. एक रिपोर्ट में दावा किया गया है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को इस बात का यक़ीन दिलाया गया था कि उनकी पार्टी 184 सीटें जीत रही है और अगर उलटफेर भी हुआ तो भी 164 सीटें आसानी से जीत जाएगी.

कांग्रेस अध्यक्ष को इस बात का यक़ीन दिलाया था कांग्रेस के डाटा एनालिस्ट प्रवीण चक्रवर्ती ने. संडे गार्जियन लाइव में छपी एक रिपोर्कीट में दावा किया गया है कि ‘जानकार सूत्रों ने बताया कि 21 मई को राजीव गांधी की पुण्यतिथि के दिन चक्रवर्ती ने राहुल से मुलाकात की थी और उन्हें संबंधित निर्वाचन क्षेत्रों और अनुमानित मार्जिन के साथ कांग्रेस के 184 संभावित विजेताओं की सूची दी थी.

कांग्रेस अध्यक्ष के कार्यालय ने प्द्वाराप्रात डाटा की दुबारा जांच भी की और राहुल ने अपने कार्यालय से कहा,”पहली बार चुने जाने वाले करीब 100 सांसदों’ की सूची बनाएं, जिनसे वह परिचित नहीं थे.” इस तरह की बात भी रिपोर्ट में आयी है कि स्टॅलिन को गृह मंत्रालय दिया जा सकता था. इतना ही नहीं राहुल ने हारने वाले संभावित नेताओं की अलग सूची तैयार करने का निर्देश दिया.

दूसरी सूची में मल्लिकार्जुन खड़गे, पवन बंसल, हरीश रावत, अजय माकन आदि प्रमुख नेता शामिल थे, जिन्हें वह अगली सरकार का हिस्सा बनाना चाहते थे. रिपोर्ट के मुताबिक़ राहुल ने शरद पवार से अनुरोध किया गया था कि वे डिस्पेंसेशन का हिस्सा बनें. इतना ही नहीं उत्तर प्रदेश में महागठबंधन कितनी सीटें जीएतेगा इसकी जानकारी भी कांग्रेस ने अखिलेश से ली और अखिलेश ने इस आँकड़े को 40 से अधिक बताया था जिसके बाद उन्हें कैबिनेट की सीट ऑफर की गई थी.

वहीँ अखिलेश ने अनुमान लगाया था कि कांग्रेस राज्य में 9 सीटें जीत सकती है. इन सीटों में कानपूर, उन्नाव और फतेहपुर सीकरी की सीट भी शामिल थी. आपको बता दें कि जब नतीजे आये तो पार्टी को महज़ 52 सीटें ही मिलीं. कांग्रेस की बड़ी हार के बाद कांग्रेस अध्यक्ष ने इस्तीफे की पेशकश की थी. परन्तु पार्टी ने इसे अस्वीकार कर दिया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *