कांग्रेस की र’णनीति से भाजपा की ख’ड़ी हो’गी मुश्कि’ल?,अब इस राज्य में..

October 16, 2020 by No Comments

नई दिल्ली: बिहार चुनाव में कांग्रेस ने राजद के साथ गठबं’धन किया हुआ है वहीँ ले’फ़्ट पार्टियाँ भी इस गठबं’धन का हि’स्सा हैं. अब ख़बर है कि एक और राज्य में कांग्रेस ने ग’ठबंधन किया है. पूरे देश में ले’फ़्ट पार्टि’यों ने भाजपा के ख़ि’लाफ़ वि’रोध का बि’गुल ब’जाया हुआ है. लेफ़्ट पार्टियों को अपनी वि’चारधारा के प्रति भ’रोसे का माना जाता है इस’लिए चुनाव बाद भी वो अपनी बात पर क़ा’यम रहती हैं.

ख़बर असम से है, कांग्रेस ने यहाँ भी भाजपा के ख़ि’लाफ़ ग’ठबंधन बना लिया है. असम में कांग्रेस ने सीपीआई और सीपीआई(एमएल) से गठ’बंधन किया है. सीपीआई ले’फ़्ट विंग की पार्टी मानी जाती है जबकि सीपीआई (एमएल) को फ़ार ले’फ़्ट विचा’रधारा का माना जाता है. दोनों ले’फ्ट पार्टियों के प्रतिनिधियों से मुलाकात के बाद कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष रिपुन बोरा (Ripun Bora) ने पत्रकारों से कहा कि सभी लेफ्ट पार्टियां एक साथ चुनाव ल’ड़ने के लिए राजी हो गई हैं.

कांग्रेस ने 8 अक्टूबर को CPI(M) के ने’ताओं के साथ भी मीटिंग की थी. जिसके बाद दोनों दलों ने बीजेपी सरकार को ह’राने के लिए अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव एक साथ ल’ड़ने की घो’षणा की थी. रिपुन बोरा ने इस बारे में कहा,”असम और असम के लोगों के लिए आज बीजेपी सबसे ब’ड़ा ख़त’रा है. समय की मां’ग है कि सभी बीजेपी वि’रोधी ता’कतें एक’जुट हों और इस साम्प्रया’दिक और भ्र’ष्ट सरकार को स’त्ता से ह’टाएं.”

इस मीटिंग में विपक्ष के नेता देवव्रत साइकिया, कांग्रेस नेता रक़ीबुल हुसैन, CPI के प्रदेश सचिव मुनीन महंता, CPI (ML) के प्रदेश सचिव रुबुल सरमा और अन्य नेता मौ’जूद थे. इससे पहले ऑल इंडिया यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट (AIUDF) महागठ’बंधन में शा’मिल होने पर स’हमति जता चुका है. नया क्षेत्रीय दल ‘आंच’लिक गण मोर्चा’ भी महा’गठबं’धन का हिस्सा है. 126 सदस्यों वाली असम वि’धानसभा में अगले साल मार्च-अप्रैल में चु’नाव होने की संभावना है. वर्तमान में यहाँ भाजपा की सरकार है. पिछले विधानसभा चुनाव में भाजपा के 60, कांग्रेस के 23, AIUDF के 14, AGP के 14, BPF के 12 विधायक थे. भाजपा ने AGP और BPF के साथ मिलकर सरकार बनाई थी.’

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *